गलवान घाटी हिंसक झड़प पर चीनी विदेश मंत्रालय का बयान: हम और ज्यादा झड़प नहीं चाहते

गलवान घाटी में हुई खूनी झड़प पर चीनी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता झाओ लिजियन ने कहा कि गलवान घाटी क्षेत्र की संप्रभुता हमेशा चीन से संबंधित रही है. चीन नहीं चाहता है कि आगे किसी तरह भी की तरह की झड़प हो।

दिल्ली:  गलवान घाटी में लाइन ऑफ एक्चुअल कंट्रोल (LAC) पर भारत और चीन के सैनिकों के बीच हिंसक झड़प हुई थी। इस झड़प पर चीनी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता झाओ लिजियन ने कहा कि गलवान घाटी क्षेत्र की संप्रभुता हमेशा चीन से संबंधित रही है। चीन नहीं चाहता है कि आगे किसी तरह भी की तरह की झड़प हो।

https://www.newstrendz.co.in/national-international/lac-saheed-col-santosh-babu-funeral-hyderabad

चीनी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता झाओ लिजियन ने कहा कि हम कूटनीतिक और मिलिट्री चैनल के जरिए संवाद कर रहे हैं। इस मामले में सही और गलत बिल्कुल साफ है, ये घटना वास्तविक नियंत्रण रेखा के चीन की तरफ हुई और इसके लिए चीन को दोष नहीं देना चाहिए।

 

यही नहीं चीनी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता झाओ लिजियन ने यह भी कहा कि इस घटना के बाद चीन और भारत दोनों ने कहा है ​कि हम संवाद के जरिए विवाद को सुलझाने और बॉर्डर के इलाके में शांति की रक्षा करने के लिए प्रतिबद्ध हैं। दुनिया के दो सबसे बड़े विका​सशील देशों और उभरती हुई अर्थव्यवस्थाओं के साझे हित विवाद से कहीं बड़े हैं ।

यह भी पढ़े:http://LAC: गलवान घाटी में मारे गए सैनिकों में चीनी यूनिट के कमांडिंग ऑफिसर भी शामिल: सूत्र

Leave a Reply

Your email address will not be published.