भारतीय डाक विभाग बना कोरोना वॉरियर्स: टेस्टिंग किट पहुंचने में करेगा मदद

दिल्ली: दुनिया में फ़ैल रहे कोरोना (Coronavirus) को रोकने के लिए ज्यादा से ज्यादा टेस्ट करना जरूरी है ऐसा विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने कहा है। इसी पहल के तहत भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद (ICMR) ने हर दिन 1 लाख टेस्ट करने का लक्ष्य रखा है। ICMR के इस काम को अंजाम देने के लिए अब भारतीय डाक विभाग आगे आया है। अब भारतीय डाक विभाग कोरोना टेस्ट किट पहुंचाने का काम करेगा। देश में 1,56, 000 डाकघरों का विशाल नेटवर्क है, जो जल्द से जल्द यह किट पंहुचाने में ICMR की मदद करेगा।

इंडिया पोस्ट अब कोविड-19 वॉरियर्स में बदल गया है, ये पूरे देश में आईसीएमआर की ओर से निर्धारित 200 अतिरिक्त लैब के लिए टेस्ट किट्स मुहैया कराएगा। इन सभी लैब को कोरोना (Coronavirus) कोविड की टेस्टिंग करने की अनुमति दी गई है। अब पोस्ट ऑफिस ने ICMR के साथ समझौता किया है।

इस फैसले पर संचार व कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद ने कहा, आईसीएमआर और  भारतीय डाक विभाग के बीच हुए इस समझौते का मैं स्वागत करता हूं। गौरतलब है कि कुछ दिन पहले डाक विभाग लोगों के घर तक पैसा पंहुचाने का काम कर रहे थे।
वही आधिकारिक बयान में कहा गया कि टेस्टिंग किट्स की डिलीवरी की सूचना लैब को रोजाना व्हाट्सएप पर दी जाएगी। इंडिया पोस्ट कोलकाता, रांची, पटना, जोधपुर, अजमेर, जयपुर, इंफाल और आइजोल सहित अन्य कई जगहों पर डिलीवरी कर चुका है। इन किटों को ड्राई आइस में पैक कर इसकी डिलीवरी की जा रही है।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.