मध्य प्रदेश के राज्यपाल लालजी टंडन का लखनऊ में निधन: यूपी में तीन दिन का राजकीय शोक

लालजी टंडन

लालजी टंडन के किडनी और लिवर में दिक्कत के बाद उन्हें एडमिट लखनऊ के मेदांता अस्पताल में भर्ती कराया गया था। जहा पिछले करीब डेढ़ महीने से उनका इलाज चल रहा था।

लखनऊ: उत्तर प्रदेश के पूर्व सांसद, वर्तमान में मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) के गवर्नर (Governor) लालजी टंडन (Lalji Tondon) का मंगलवार सुबह लखनऊ के मेदांता हॉस्पिटल (Medanta Hospital) में निधन हो गया । उनकी उम्र 85 वर्ष थी। इसकी जानकारी यूपी सरकार में कैबिनेट मंत्री और उनके बेटे आशुतोष टंडन ने ट्वीट कर दी है। उनका मेदांता अस्पताल में करीब डेढ़ महीने से इलाज चल रहा था। उन्हें किडनी और लिवर में दिक्कत के बाद उन्हें एडमिट कराया गया था।

 

 

बिहार और मध्य प्रदेश के गवर्नर रहे

लालजी को 2018 में बिहार का गवर्नर बनाया गया। इसके बाद 2019 में उन्हें मध्य प्रदेश का राज्यपाल नियुक्त किया गया। लखनऊ में उनकी लोकप्रियता समाज के हर समुदाय में थी। वे पूर्व प्रधानमंत्री स्वर्गीय अटल बिहारी वाजपेयी के काफी करीबी और अहम सहयोगी भी थे।

CM योगी आदित्यनाथ ने जताया शोक

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि लालजी टंडन के निधन से देश ने एक लोकप्रिय जननेता, योग्य प्रशासक और प्रखर समाजसेवी को खोया है। उन्होंने कहा कि लालजी टंडन लखनऊ के प्राण ही थे।

https://www.newstrendz.co.in/up-uk/uttarakhand-cm-trivendra-singh-rawat-sehkari-samiti-compuritization/

PM मोदी ने भी जताया शोक

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने भी लालजी टंडन के निधन पर शोक व्यक्त किया है। उन्होंने ट्वीट करते हुए लिखा टंडन जी संवैधानिक मामलो के ज्ञाता थे। उन्होंने अटलजी के साथ लंबा वक्त गुजारा। दुख की इस घडी में मैं उनके परिवार व चाहने वालों के प्रति अपनी संवेदना व्यक्त करता हूं।

यह भी पढ़े: वर्चुअल कॉन्फ्रेंस व रैली के माध्यम से पार्टी कार्यकर्ताओ में फूकेंगे नयी ऊर्जा: भाजपा प्रदेश अध्यक्ष बंशीधर भगत