लॉकडाउन का उल्लंघन करने पर यूपी के विधायक पर उत्तराखंड में मुकदमा दर्ज़

देहरादून: देश में जहा कोरोना संक्रमण के चलते देशभर में लॉकडाउन है ऐसे में उत्तरप्रदेश (Uttar pradesh) के विवादित विधायक अमनमणि त्रिपाठी (Amanmani Tripathi) लॉक डाउन का उल्लंघन करते नज़र आये। जिसको लेकर विधायक अमनमणि त्रिपाठी (Amanmani Tripathi) पर लॉकडाउन उल्‍लंघन को लेकर विभिन्‍न धाराओं के तहत केस दर्ज किया गया है। हालाँकि लॉकडाउन पास के ज़रिये यह खुलासा हुआ है की देहरादून जिला प्रशासन ने यूपी के निर्दलीय विधायक त्रिपाठी और उनके साथ 12 लोगों को बदरीनाथ और केदारनाथ जाने के लिए पास जारी किया था, लेकिन लॉकडाउन की सख्ती के चलते इन्हें चमोली जिले के बॉर्डर से बदरीनाथ के कपाट न खुलने का हवाला देते हुए वापस लौटा दिया गया।

पुलिस ने की कार्यवाही:

आपको बता दे की उत्तराखंड पुलिस से बदसलूकी करना उत्तरप्रदेश के विवादित विधायक अमनमणि त्रिपाठी (Amanmani Tripathi) को महंगा पड़ गया। पुलिस ने विधायक सहित 12 लोगों को हिरासत में ले लिया। इन पर आपदा प्रबंधन अधिनियम के तहत मुकदमा दर्ज किया गया है। जानकारी मिली है कि बदरीनाथ धाम के कपाट खुले न होने के चलते अमनमणि त्रिपाठी (Amanmani Tripathi) सहित 12 लोग चमोली के कर्णप्रयाग पहुंच गये थे। इस पर कर्णप्रयाग पुलिस ने इनको रोका तो विधायक ने अपने रुतबे को दिखाकर पुलिस से ही बदतमीजी कर दी। यूपी के बाहुबली विधायक अमनमणि त्रिपाठी (Amanmani Tripathi) समेत 12 लोगों को कर्णप्रयाग में कोरोना ड्यूटी में लगे अफसरों से बदसलूकी करने के बाद टिहरी पुलिस ने वापसी आते वक्त मुनिकीरेती में यह कार्रवाई की है। टिहरी पुलिस ने विधायक अमनमणि त्रिपाठी (Amanmani Tripathi) के काफिले को व्यासी थाना इलाके में रोक कर हिरासत में लिया। पुलिस ने अनुमति के विपरीत 12 लोगों पर आपदा एवं संक्रमण अधिनियम का उल्लंघन करने और सरकारी कार्य में व्यवधान उत्पन करने के चलते मुकदमा दर्ज किया।

उधर पुलिस का कहना है कि एमएलए त्रिपाठी ने जो लेटर दिखाया, उसमें उन्होंने यूपी के सीएम आदित्यनाथ के पिता के श्राद्ध कर्म के लिए वहां जाने की बात कही थी। पुलिस का कहना है कि ये सारे लोग रविवार को तीन कार में सवार होकर बदरीनाथ जा रहे थे। इस दौरान चमोली जिले की सीमा पर चेकिंग के दौरान इन सभी को वापस भेजा गया। तो वही प्राप्त जानकारी के अनुसार बताया यह जा रहा है की एमएलए अमनमणि त्रिपाठी (Amanmani Tripathi) के पास उत्तराखंड प्रदेश के अपर मुख्य सचिव का जारी अनुमति पत्र उपलब्ध था जिसको लेकर वो आये थे।

लॉकडाउन के नियमों उल्लंघन:

जानकारी यह मिल रही है कि पास जारी करने के दौरान तय मानकों को ताक पर रखा गया है। दरअसल, लॉकडाउन के दौरान ऑरेंज जोन से ग्रीन जोन में जाने को पास जारी करने के लिए सख्त मानक तय हैं। सवाल यह है कि लॉक डाउन होने बावजूद भी देहरादून जिला प्रशासन ने त्रिपाठी सहित अन्‍य लोगों को बदरीनाथ और केदारनाथ धाम जाने के लिए मंजूरी कैसे दे दी। क्या नियम और कानून सिर्फ आम जनता के लिए है, नेता और मंत्री के लिए नहीं।

यह भी पड़े: http://आज से एक बार फिर ले रामायण और महाभारत का आनंद Star Plus व Colors चैनल पर

Leave a Reply

Your email address will not be published.