ओलिंपियन Sushil Kumar की जान को खतरा, गैंगस्टर काला जेठड़ी की हिट लिस्ट में पहलवान

sushil-kumar

दिल्ली: भारतीय पहलवान सागर धनखड़ की हत्या के आरोपी ओलिंपियन सुशील कुमार (Sushil Kumar) 6 दिन की पुलिस रिमांड पर हैं। उन्हें बीते रविवार को दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने राजधानी के मुंडका इलाके से गिरफ्तार किया था। वो 18 दिन से फरार चल रहे थे। सुशील कुमार ने खुद खुलासा किया है कि वह पिछले कुछ दिन से न केवल पुलिस से बच रहे थे, बल्कि गैंगस्टर संदीप उर्फ काला जेठड़ी से भी छिप रहे थे। तो वही अब ऐसे खबरे भी सामने आ रही है कि सुशील कुमार की जान को खतरा है।

पिछले दिनों दिल्ली के छत्रसाल स्टेडियम में 4 मई की दरमियानी रात जब रेसलर सुशील कुमार और उनके साथियों ने सागर धनखड़ पर कथित रूप से हमला किया था, तब वहां गैंगस्टर संदीप उर्फ काला जेठड़ी का भतीजा सोनू भी मौजूद था। मारपीट के दौरान उसे भी गंभीर चोट आई। सोनू पर हत्या, उगाही और लूटपाट के कई मामले दर्ज हैं। इसी वजह से काला जेठड़ी सुशील से नाराज है और ओलिंपियन से बदला लेने की ताक में है।

सुशील कुमार को डर है कि जेल में काला जठेड़ी गैंग के गुर्गे उन पर हमला कर सकते हैं। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, सुशील ने सागर धनखड़ के साथ हुई मारपीट के बाद काला जठेड़ी गैंग से भी संपर्क साधने की कोशिश की थी। ताकि उन्हें माफी मिल जाए।
गैंगस्टर्स ने फरारी के दौरान छिपने में मदद की थी।

वही एक मीडिया हाउस की रिपोर्ट के मुताबिक, सुशील कुमार (Sushil Kumar) के दिल्ली और हरियाणा के कुछ गैंगस्टर्स से संबंध थे। फरारी के दौरान इन्हीं गैंगस्टर्स ने सुशील को छिपने में मदद दी। इसके बाद से ही पुलिस सतर्क हो गई है और उसका पूरा ध्यान दिल्ली में पहलवानों और अपराधियों के गठजोड़ पर है। इसीलिए सुशील को कड़ी सुरक्षा दी गई है। गिरफ्तारी के बाद इस पहलवान को खास सुरक्षा इंतजामों के बीच ही कोर्ट में पेश किया गया था।

यह भी पढ़े:http://Uttarakhand: कोरोना की तीसरी लहर को लेकर एक्शन मोड पर तीरथ सरकार, टास्क फोर्स ने दिए सुझाव