Uttarakhand में 13 मौतों के साथ 1953 नए मरीज, एक्टिव मरीजों की संख्या 10 हजार के पार

Uttarakhand

देहरादून: उत्तराखंड Uttarakhand में कोरोना का कहर लगातार बढ़ता जा रहा है। बुधवार को राज्य में इस साल अभी तक एक दिन में सर्वाधिक 1953 नए मरीज मिले। जबकि लगातार दूसरे दिन 13 संक्रमितों की मौत हो गई। इससे राज्य में एक्टिव कोरोना मरीजों का आंकड़ा भी 10 हजार के पार पहुंच गया है। स्वास्थ्य विभाग की ओर से जारी बुलेटिन के अनुसार बुधवार को देहरादून में सर्वाधिक 796, हरिद्वार में 525, नैनीताल में 205, यूएस नगर में 118, अल्मोड़ा में 92, बागेश्वर में छह, चमोली में आठ, चम्पावत में 28, पौड़ी में 79, पिथौरागढ़ में चार, रुद्रप्रयाग में छह, टिहरी में 78, उत्तरकाशी में आठ नए संक्रमित मिले। बुधवार को राज्य में मिले संक्रमितों की संख्या अभी तक एक ही दिन में मिले संक्रमितों की दूसरी बड़ी संख्या है।

राज्य में कोरोना संक्रमण शुरू होने के बाद से अभी तक एक दिन में मिले सबसे अधिक मरीजों का आंकड़ा 2078 है जो 19 सितम्बर 2020 को मिले थे। पिछले दो दिनों से राज्य में मरीजों की संख्या इसी आंकड़े के आसपास घूम रही है। राज्य में संक्रमण की दर 3.59 प्रतिशत जबकि मरीजों के ठीक होने की दर 87 प्रतिशत के करीब रह गई है। बुधवार को राज्य के विभिन्न अस्पतालों से 483 मरीजों को ठीक होने के बाद डिस्चार्ज किया गया जिससे ठीक होने वालों का आंकड़ा 99 हजार को पार कर गया है।

राज्य में कोरोना संक्रमण के बाद बुधवार को लगातार दूसरी बार 13 संक्रमितों की मौत हो गई। इसके साथ ही राज्य में कुल मरने वालों का आंकड़ा 1793 हो गया है। बुधवार को 12 मौतें देहरादून जिले के अस्पतालों में भर्ती मरीजों की हुई हैं। जबकि एक मरीज हरिद्वार के अस्पताल में मरा है। राज्य में कोरोना संक्रमण रोकने के लिए कुल 58 कंटेनमेंट जोन बनाए गए हैं जिसमें से 30 जोन अकेले देहरादून जिले में हैं। नैनीताल में भी कंटेनमेंट जोन की संख्या लगातार बढ़ रही है और यह संख्या 22 पहुंच गई है। हरिद्वार में पांच और पौड़ी में एक कंटेनमेंट जोन बनाया गया है। राज्य के विभिन्न जिलों एवं अस्पतालों से बुधवार को कुल 47 हजार से अधिक सैंपल जांच के लिए भेजे गए जबकि 43 हजार से अधिक सैंपल की रिपोर्ट आई है। 23 हजार से अधिक सैंपलों की रिपोर्ट आना अभी बाकी है।

उत्तराखंड Uttarakhand की राजधानी देहरादून में कोरोना संक्रमण की दर पिछले एक सप्ताह से लगातार बढ़ रही है। हालात यह है कि बुधवार को राजधानी में संक्रमण की दर 12 प्रतिशत को भी पार करते हुए 13 प्रतिशत के करीब पहुंच गई है। एक तरह से देहरादून राज्य में सबसे बड़ा हॉट स्पॉट बन गया है। बड़ी संख्या में मरीजों के मिलने से स्वास्थ्य विभाग और प्रशासन की परेशानी भी बढ़ गई है। इसके बावजूद राजधानी में जांच की संख्या नहीं बढ़ाई जा रही है। देहरादून में नौ अप्रैल को कोरोना संक्रमण की दर साढ़े पांच प्रतिशत थी। जो 10 अप्रैल को आठ प्रतिशत, 11 अप्रैल को 10 प्रतिशत, 12 अप्रैल को 10 प्रतिशत, 13 अप्रैल को 11 प्रतिशत जबकि 14 अप्रैल को संक्रमण की दर 12.76 पहुंच गई है।

यह भी पढ़े: http://जाने अपना आज का दैनिक राशिफल News Trendz पर: एस्ट्रो राजीव अग्रवाल के साथ