एक जुलाई से तीन जिलों के लिए शुरू होगी चारधाम यात्रा

CM TSR
 

देहरादून: हाईकोर्ट के निर्देशों के बाद शुक्रवार को कैबिनेट की बैठक में सरकार ने तीन जिलों के लोगों के लिए एक जुलाई से चारधाम यात्रा शुरू करने पर मुहर लगा दी। वहीं, बैठक में तीन पर्वतीय जिलों के लिए बाढ़ मैदान परिक्षेत्र पर भी फैसला लिया गया। शुक्रवार को सचिवालय में मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत की अध्यक्षता में कैबिनेट की बैठक हुई। सबसे पहले नेता प्रतिपक्ष एवं हल्द्वानी विधायक स्व.इंदिरा हृदयेश को श्रद्धांजलि दी गई।

इसके बाद शुरू हुई बैठक में चारधाम सहित कुल 11 प्रस्ताव आए, जिनमें से चीनी मिलों से संबंधित प्रस्ताव पर मंत्री के अनुपस्थित होने की वजह से फैसला नहीं लिया गया। जबकि अन्य 10 प्रस्तावों पर फैसला ले लिया गया। बैठक के बाद शासकीय प्रवक्ता सुबोध उनियाल ने कैबिनेट में लिए गए फैसलों की जानकारी दी।

चारधाम यात्रा को व्यवस्थित करने के लिए देवस्थानम बोर्ड और जिला प्रशासन से समन्वय करने के लिए चारों धामों में वरिष्ठ अधिकारी की तैनाती की जाएगी। चारों धामों पर अलग-अलग अधिकारी होगा, जो कोविड से संबंधित एसओपी को लागू करने के लिए निगरानी का कार्य करेगा। सभी तीर्थ पुरोहितों का टीकाकरण किया जाएगा। एक जुलाई से चमोली में बदरीनाथ, रुद्रप्रयाग में केदारनाथ और उत्तरकाशी के लोग गंगोत्री-यमुनोत्री के दर्शन कर सकेंगे। स्थानीय निवासियों को नेगेटिव कोरोना रिपोर्ट दिखानी होगी। उन्होंने बताया कि चारधाम चात्रा के लिए विभाग अलग से एसओपी जारी करेगा, जिसमें यात्रियों की संख्या भी निर्धारित की जाएगी।

News Trendz आप सभी से अपील करता है कि कोरोना का टीका (Corona Vaccine) ज़रूर लगवाये, साथ ही कोविड नियमों का पालन अवश्य करे।

यह भी पढ़े:  देहरादून समेत कई जगह आंधी और बिजली चमकने की संभावना, चार जिलों के लिए अलर्ट जारी