Corona virus: बफर जोन में आ सकती हैं उत्तराखंड की राजधानी देहरादून

night curfew

देहरादून: Corona virus के कारण लॉकडाउन के चौथे चरण में आम नागरिको को मिली रियतों के साथ ही राज्य सरकारों को भी कई अधिकार मिले है। जिसमे सबसे महत्वपूर्ण है, शहरों को कोरोना वायरस (Corona virus) के पॉजिटिव केस के आधार पर जोनो में बाटना हालाँकि इस बार कोरोना वायरस को लेकर जारी की गयी नई गाइडलाइन में देश में 5 जोन बनाने का फैसला लिया गया है। इनमें रेड जोन, ग्रीन और ऑरेंज जोन के अलावा बफर जोन और कंटेनमेंट जोन को शामिल किया गया हैं।

क्या है बफर और कंटेनमेंट जोन, जानें क्यों बनाए गए 5 जोन:

अभी तक कोरोना वायरस (Corona Virus) को लेकर देश में सिर्फ तीन जोन बनाए गए थे, जिनमें रेड जोन, ग्रीन जोन और ऑरेंज जोन शामिल हैं। लेकिंन अब इसमें बफर और कंटेनमेंट भी जोड़ा गया है, बफर जोन में वो जिले होंगे जो रेड और ऑरेंज जोन के नियमों के बीच में होगा हलाकि बफर जोन को लेकर नियम अभी साफ होना बाकी है, लेकिन कंटेनमेंट जोन को लेकर गृह मंत्रालय की गाइडलाइन बिल्कुल साफ है। कंटेनमेंट जोन में केवल अनिवार्य सेवाएं मिलेगी। कंटेनमेंट जोन में आने-जाने पर सख्त पाबंदी होगी। कॉन्टैक्ट ट्रेसिंग और घर-घर जाकर स्वास्थ्य जांच होंगे।

रेड जोन, ग्रीन जोन और ऑरेंज जोन का फैसला राज्य सरकार करेगी, जबकि कंटेनमेंट जोन और बफर जोन का फैसला जिला प्रशासन करेगा। कंटेंनमेंट और बफर जोन में गृह मंत्रालय द्वारा जारी किए दिशा निर्देश का पालन करना होगा। वहीं, ग्रीन जोन में वो जिले आएंगे, जहां कोरोना वायरस (Corona virus) के एक भी मामले नहीं होंगे। जबकि रेड जोन में वो इलाके आएंगे, जहां कोरोना वायरस के मामले लगातार दो गुना तेजी से बढ़ रहे है।

उत्तराखंड हाईकोर्ट ने राज्य सरकार से 18 मई तक माँगा जवाब:

उत्तराखंड में कोरोना संक्रमण के सबसे ज्यादा मामले देहरादून में हैं, लेकिन ये जिला ऑरेंज जोन में है। वहीं देहरादून से कम कोरोना पॉजिटिव केस वाले जिले हरिद्वार में लोगों को प्रशासन की ज्यादा सख्ती सहनी पड़ रही है, वजह है हरिद्वार का कोरोना के रेड जोन में होना। हरिद्वार के साथ हुई इस नाइंसाफी को लेकर सवाल सबके मन में थे, लेकिन पूछने की हिम्मत किसी ने नहीं जुटाई। ये काम अब उत्तराखंड हाईकोर्ट ने कर दिया है। हाईकोर्ट ने राज्य सरकार से पूछा कि वो बताएं कि हरिद्वार को किस आधार पर रेड जोन घोषित किया गया, और देहरादून क्यों ऑरेंज जोन में है।

क्यों बफर जोन में शामिल हो सकता है देहरादून:

उत्तराखंड की राजधानी देहरादून में लगातार कोरोना वायरस (Corona virus) के पॉजिटिव केस सामने आ रहे है। देहरादून जिले की की बात करे तो यहां कोरोना के अभी तक 46 केस मिले हैं, ये संख्या लगातार बढ़ ही रही है। सोमवार को स्वास्थ्य विभाग द्वारा ज़ारी किये गए हेल्थ बुलेटिन के अनुसार उत्तराखंड में कोरोना के कुल पॉजिटिव केस की संख्या 93 हो चुकी है। बीती रात देहरादून के बसन्त बिहार निवासी महिला में कोरोना संक्रमण की पुष्टि हुई है। परिवार मूल रूप से उत्तरकाशी का रहने वाला है, बताया जा रहा है महिला महाराष्ट मुंबई से परिवार के साथ लौटी थी। महिला के साथ पति लौटा था, हालाँकि पत्नी में ही कोरोना संक्रमण की पुष्टि हुई है। ऐसे में चौथे चरण के लॉकडाउन में राजधानी देहरादून के बफर जोन में शामिल होने की सम्भावनाये जताई जा रही है जिसको लेकर पहले से ही उत्तराखंड हाईकोर्ट ने राज्य सरकार को तालाब किया है ।

तो वहीं देहरादून को ऑरेंज जोन में रखे जाने को लेकर पहले से सवाल खड़े किये जा रहे हैं , अभी तक हरिद्वार में 8 पॉजिटिव मामले मिले हैं। इसके बावजूद हरिद्वार को रेड जोन में रखा गया, जबकि देहरादून को ऑरेंज जोन में रखा गया।
दोनों पक्षों की सुनवाई के बाद हाईकोर्ट ने इस मामले में राज्य सरकार से 18 मई तक जवाब देने को कहा है। अब माना जा रहा है कि उत्तराखंड के कुछ जिले रेड जोन घोषित हो सकते हैं।

ये नियम रहेगा लागू:

देहरादून के जिलाधिकारी आशीष श्रीवास्तव के मुताबिक शहर में सुबह 7 से 4 बजे तक ही दुकानें खुलेंगी। इसके अलावा बिना मास्क के घूमते पाए जाने पर आपदा प्रबंधन के तहत कार्रवाई होगी। इसके अलावा उन्‍होंने कहा कि होम क्वारंटाइन को लेकर भी सख्‍ती होगी।

उत्तराखंड में रविवार को कोरोना वायरस (Corona Virus) संक्रमण एक नया मामला सामने आने के साथ ही राज्य में कोविड-19 से संक्रमित लोगों की संख्या बढ़कर 93 हो गई है। राज्य में कोरोना संक्रमण से अब तक एक व्यक्ति की मौत हो चुकी है। राज्य के स्वास्थ्य विभाग के मुताबिक, 39 संक्रमित लोगों का इलाज चल रहा है जबकि 52 लोग स्वस्थ हो गए हैं और एक मरीज की मौत हो चुकी है।

फ़िलहाल अब देखना यह है की नए लॉक डाउन में राज्य सरकार को मिले अधिकार के चलते जोनो को को लेकर उत्तराखंड सरकार क्या निर्णय लेती है।

यह भी पढ़े: http://31 मई तक बढ़ा लॉकडाउन: गृह मंत्रालय ने जारी की लॉकडाउन 4.0 की गाइडलाइन्स

Leave a Reply

Your email address will not be published.