Cyber Cell ने ठगी के 8 लाख रुपये का ट्रांजेक्शन रोका, ठगी होने पर यहां दर्ज कराएं अपनी श‍िकायत

online fraud
 

 हल्द्वानी: युवक के खाते से की गई ठगी के बाद साइबर सेल (Cyber Cell) ने पूरी धनराशि शीघ्र ही वापस हो जाएगी साइबर सेल ने ठगों के खाते में ट्रांजैक्शन रोक दिया है। बीते दो जून को ठगों ने झांसा देकर युवक के खाते से पैसे निकाल लिए थे। साइबर क्राइम के मामलों में तुरंत सूचना मिलने पर पुलिस व साइबर सेल ने ठगों के खाते में ट्रांसफर हुई धनराशि को वापस कर लेती है। ऐसा ही एक मामला बीते दो जून को हुआ। जिसमें कालाढूंगी के बिदरामपुर चकलुआ निवासी सुरेश चंद्र भट्ट के साथ ठगी की घटना हुई थी। वादी का कहना है कि शाइन डॉट कॉम नामक नौकरी पोर्टल पर उन्होंने पूर्व में पंजीकरण किया था। जिस पर सर्विस उपलब्ध न कराने के कारण उनके मोबाइल फोन नंबर पर पैसा रिफंड करने के लिए फोन आया। ऐसे में युवक की मेल आईडी पर एक लिंक भेजा गया। जिस पर 10 रुपये का पेमेंट करने के लिए कहा गया। युवक ने कोटक महिंद्रा के डेबिट कार्ड से ₹10 का पेमेंट लिंक पर कर दिया। जिसके बाद युवक के पहले खाते से तीन लाख व दूसरे खाते से पांच लाख ऑनलाइन फ्रॉड के माध्यम से निकाल लिए गए। साइबर ठगी के संबंध में तहरीर के आधार पर थाना कालाढूंगी में मुकदमा पंजीकृत किया गया और इस मामले की विवेचना साइबर सेल को दी गई।

ठगी होने पर 1171 200003 पर दें सूचना

साइबर सेल प्रभारी इंस्पेक्टर सुधीर कुमार ने कहा कि किसी भी अज्ञात व्यक्ति के कॉल और मैसेज से सावधान रहें। किसी को भी अपना पासवर्ड, ओटीपी, सीवीवी शेयर न करें। अनजान लिंक, ऑनलाइन जॉब ऑफर से संबंधित लिंक पर क्लिक न करें। अनजान क्यूआर कोड कभी भी स्कैन न करें। जागरूक बनें और अन्य व्यक्तियों को भी जागरूक करें। यदि कोई भी व्यक्ति ठगी का शिकार होता है तो वह तत्काल नजदीकी थाना व साइबर सेल (Cyber Cell)  के मोबाइल नंबर 1171 200003 पर सूचना दें।

News Trendz आप सभी से अपील करता है कि कोरोना का टीका (Corona Vaccine) ज़रूर लगवाये, साथ ही कोविड नियमों का पालन अवश्य करे।

यह भी पढ़े:सड़क हादसों पर अब लगेगा ब्रेक, 50 में से 26 ब्लैक स्पॉट हटे लेकिन ये इलाके संवदेनशील