चारधाम यात्रा को लेकर देवस्थानम बोर्ड ने भेजा प्रस्ताव, यात्रा को सीमित संख्या में शुरू करने की तैयारी पूरी, सरकार की अंतिम मोहर का इंतज़ार

chardham yatra
 

देहरादून: कोरोना की दूसरी लहर की रफ्तार धीमी पड़ने के साथ ही से देवस्थानम बोर्ड ने चारधाम यात्रा को चरणबद्ध तरीके से खोलने की तैयारी कर ली है। बोर्ड की ओर से शासन को यात्रा को सीमित संख्या में शुरू करने का प्रस्ताव भेजा गया है। इस पर स्वास्थ्य व आपदा प्रबंधन की अनुमति के बाद सरकार 15 जून के बाद फैसला ले सकती है। कोरोना महामारी के कारण लगातार दूसरे साल भी चारधाम यात्रा बंद पड़ी है। मई व जून महीने में चारधाम यात्रा में सबसे ज्यादा श्रद्धालु दर्शन के लिए आते थे। लेकिन वर्तमान में बदरीनाथ, केदारनाथ, गंगोत्री और यमुनोत्री धाम में बिना श्रद्धालुओं के सन्नाटा पसरा है।

सिर्फ मंदिर में पुजारी, तीर्थ पुरोहित ही पूजा पाठ की परंपरा को निभा रहे हैं। पर्यटन उद्योग ही प्रदेश की अर्थव्यवस्था की रीढ़ है। जिसमें चारधाम यात्रा प्रमुख है।कोरोना की दूसरी लहर काबू में आने से बीते वर्ष की तर्ज पर देवस्थानम बोर्ड ने चारधाम यात्रा को चरणबद्ध तरीके खोलने की तैयारी की है। जिसमें सबसे पहले चारधामों के समीपवर्ती गांवों के लोगों को ही दर्शन की अनुमति दी जाएगी। इसके बाद जिला, राज्य और बाहरी राज्यों के लोगों के लिए यात्रा शुरू की जा सकती है।चारधामों में एक दिन में आने वाले श्रद्धालुओं की क्षमता के आधार पर यात्रा को सीमित संख्या में संचालित करने का प्रस्ताव देवस्थानम बोर्ड ने दिया है। साथ ही श्रद्धालुओं के लिए ई-पास के माध्यम से यात्रा की अनुमति दी जाएगी।

News Trendz आप सभी से अपील करता है कि कोरोना का टीका (Corona Vaccine) ज़रूर लगवाये, साथ ही कोविड नियमों का पालन अवश्य करे।

यह भी पढ़े: http://IMA के 341 युवा जांबाज अफसर देश पर मर-मिटने की शपथ लेकर आज भारतीय सेना का हिस्सा बन गए