Etawah: सड़कों पर निकले अखिलेश यादव, विधानसभा चुनाव से पहले लोगों की नब्ज पकड़ने की कोशिश में जुटे

इटावा: Etawah मेरा शहर है, मैं कहीं भी घूम सकता हूं। ये कहना है समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष और उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) का। इन दिनों अखिलेश यादव पूरे प्रदेश में घूम-घूम कर लोगों की नब्ज समझने और पकड़ने की कोशिश में जुटे दिख रहे हैं। वह जहां भी भ्रमण पर जाते हैं, वहां स्थानीय लोगों से मेल-मुलाकात के साथ ही वहां की लोकप्रिय वस्तुओं का स्वाद लेना नहीं भूलते। इसी क्रम में बिना किसी पूर्व सूचना के अखिलेश अपने गृह नगर इटावा पहुंचे। इटावा नगर से सैफई वापस जाते समय इटावा रेलवे स्टेशन के पास स्थित लोकप्रिय घोड़ा चाय सेंटर पहुंचकर अखिलेश यादव ने अपने हिसाब से चाय स्टाल के मौजूद लोगों से तरह-तरह की चर्चाएं की। लोकप्रिय घोड़ा चाय के मालिक अनिल गुप्ता से सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने चाय के बारे में पूछा। उन्होंने लस्सी, दूध व आमलेट के बारे में भी जानकारी ली, फिर बोले कि अगर खीर मिले तो खिलाइए. अनिल गुप्ता ने उन्हें एक कुल्हड़ में खीर दी। जिसका स्वाद अखिलेश ने बड़े ही चाव से लिया। वहीं अखिलेश के आने की खबर मिलते ही कार्यकर्ता बड़ी संख्या में रेलवे स्टेशन पहुंच गए। अखिलेश यादव ने सभी का अभिवादन किया। वे रेलवे स्टेशन के गेट तक गए बाद में गाड़ी में बैठ गए। घोड़ा चाय पीने के बाद अखिलेश यादव ने ट्वीट भी किया। उन्होंने लिखा कि अच्छा लगता है कभी जब बचपन की याद बड़े होकर आये. जैसे कभी साइकिल पर बैठकर पढ़ने जाते समय पीते थे। चार आने में इटावा की मशहूर ‘घोड़ा चाय’।