काशीपुर में हत्‍याकर फरार पांच हजार का इनामी बदमाश मुरादाबाद से गिरफ्तार

dehradun
 

रुद्रपुर: काशीपुर के आइटीआई थाना क्षेत्र में हत्या कर फरार पांच हजार के इनामी बदमाश को स्पेशल टास्क फोर्स ने 11 साल बाद मुरादाबाद से गिरफ्तार कर लिया है। साथ ही उसे आइटीआई थाना पुलिस के सुपुर्द कर दिया गया है। एसटीएफ अधिकारियों के मुताबिक हत्या में शामिल तीन आरोपितों को पुलिस पहले ही गिरफ्तार कर चुकी थी।

सीओ एसटीएफ पूर्णिमा गर्ग ने बताया कि वर्ष, 2011 में थाना आइटीआई क्षेत्र निवासी अब्दुल खालिद की चार सगे भाइयों ने हत्या कर दी थी। इस मामले में मृतक अब्दुल खालिद के भाई अब्दुल कलाम की शिकायत पर पुलिस ने केस दर्ज किया था। साथ ही पुलिस ने तीन हत्यारोपितों को गिरफ्तार कर लिया था। जबकि पीपलसाना, थाना भोजपुर, जिला मुरादाबाद निवासी अंसार पुत्र अलीजान उर्फ भूरे फरार हो गया था।

पुलिस ने अंसार की धरपकड़ को कई बाद दबिश दी लेकिन वह हत्थे नहीं चढ़ा। जिस पर पुलिस ने उस पर पांच हजार का इनाम घोषित कर दिया था। सीओ एसटीएफ पूर्णिमा गर्ग ने बताया कि एसटीएफ इनामी बदमाशों की धरपकड़ को अभियान चला रही है। इस बीच सूचना मिली कि वर्ष, 2011 में आइटीआई थाने में हत्या का इनामी बदमाश मुरादाबाद में है। जिसके बाद एसटीएफ के निरीक्षक एमपी सिंह, एसआई केजी मठपाल, एसआई बृजभूषण गुरुरानी, हेड कांस्टेबल प्रकाश चंद्र भगत, कांस्टेबल रियाज अख्तर, गुरवंत सिंह, मनमोहन सिंह, राजेंद्र सिंह, सुरेंद्र कनवाल मुरादाबाद में अंसार की तलाश में जुट गए। जहां उसकी लोकेशन एसटीएफ को कुरेशियान वाली गली, कस्बा पाकवाड़ा में मिली। जिसके बाद एसटीएफ ने उसे दबोच लिया और थाना आइटीआई लेकर पहुंची। आइटीआई थाना पुलिस ने आरोपित को कोर्ट में पेश कर जेल भेज दिया है।

News Trendz आप सभी से अपील करता है कि कोरोना का टीका (Corona Vaccine) ज़रूर लगवाये, साथ ही कोविड नियमों का पालन अवश्य करे।

यह भी पढ़े: Gulshan Kumar murder case: दाऊद के साथी रऊफ की उम्रकैद बरकरार