सरकार की बेरुखी से नाराज़ 8000 से अधिक UPNL कर्मचारी, शनिवार को करेंगे मुख्यमंत्री आवास कूच

देहरादून: पिछले 53 दिनों से सरकार ने आंदोलन कर रहे उपनल UPNL कर्मचारियों पर सख्ती शुरू कर दी है। ब्रहस्पतिवार को दून मेडिकल कॉलेज के प्राचार्य ने 17 अप्रैल तक काम पर न लौटने वाले कर्मियों के स्थान पर नई भर्ती करने की चेतावनी जारी की। साथ ही उन्होंने कोरोना के बढ़ते मामलो को लेकर कर्मियों को वापिस आने की अपील की !उपनल कर्मचारियों के हड़ताल पर जाने के कारण दून समेत तमाम अस्पतालों की स्वास्थ्य सेवाएं गड़बड़ा गई हैं। कोरोना के मामले बढ़ने के बाद दून अस्पताल पर दबाव बढ़ा है, लेकिन कर्मियों की हड़ताल के कारण व्यवस्थाएं बनाने में खासी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है।

 

उपनल कर्मचारियों का मुख्यमंत्री आवास पर आंदोलन जारी

उपनल UPNL कर्मचारी वेतन समेत विभिन्न मांगों को लेकर पिछले 53 दिन से आंदोलन कर रहे महासंघ के पदाधिकारियों और कर्मचारियों ने शनिवार को मुख्यमंत्री आवास कूच करने का एलान किया है। पदाधिकारियों का साफ साफ़ शब्दों में कहना है कि उपनल कर्मचारी पिछले 53 दिनों से आंदोलन कर रहे हैं और सरकार शासन स्तर पर उनकी मांगों के संबंध में कोई कार्रवाई नहीं की जा रही है!उपनल कर्मचारी महासंघ के प्रदेश महामंत्री हेमंत सिंह रावत का कहना है कि सरकार शासन उपनल कर्मचारियों की आवाज को दबाना चाह रही है, लेकिन ऐसा कतई नहीं होने दिया जाएगा। उपनल UPNL कर्मचारी महासंघ के महामंत्री हेमंत सिंह रावत ने बताया कि विभिन्न जनपदों में आंदोलनरत उपनल कर्मचारियों द्वारा अब 17 अप्रैल को होने वाली रैली में सम्मिलित होने का निर्णय लिया गया है। मुख्यमंत्री आवास कूच में प्रदेश भर से 8000 से अधिक उपनल कर्मचारी शामिल होंगे।

यह भी पढ़े: http://जाने अपना आज का दैनिक राशिफल News Trendz पर: एस्ट्रो राजीव अग्रवाल के साथ