Curfew में राहत न मिलने से व्यापारी नाराज,चौराहे पर मुख्यमंत्री का पुतला फूंक कर सरकार के खिलाफ किया प्रदर्शन

 

देहरादून: प्रदेश सरकार की ओर से कोविड कर्फ्यू (Curfew)से संबंधित गाइडलाइन जारी की गई। इसमें व्यापारियों को राहत नहीं मिल पाई है। इससे नाराज तीर्थ नगरी के व्यापारिक संगठनों ने घाट चौराहा पर मुख्यमंत्री का पुतला फूंक कर प्रदेश सरकार के खिलाफ प्रदर्शन किया। नगर उद्योग व्यापार मंडल के प्रतिनिधि मंडल ने कुछ दिन पूर्व मुख्यमंत्री से मुलाकात कर गाइड लाइन में राहत देने की मांग की थी। जिस पर सकारात्मक कार्रवाई का आश्वासन दिया गया था। बीते रविवार को सरकार की ओर से जारी गाइडलाइन में व्यापारियों को कोई राहत नहीं मिली है। इससे नाराज व्यापारियों ने घाट चौराहा में एकत्र होकर मुख्यमंत्री का पुतला फूंका और सरकार के खिलाफ प्रदर्शन किया।

प्रदर्शन में शामिल पूर्व काबीना मंत्री शूरवीर सिंह सजवाण ने कहा कि व्यापारियों को राहत देने में सरकार विफल रही है। छोटा हो या बड़ा व्यापारी हर कोई पिछले डेढ़ माह से आर्थिक संकट से जूझ रहा है। सरकार ने व्यापारियों की मांग को अनसुना किया है। देवभूमि उद्योग व्यापार मंडल के प्रदेश अध्यक्ष राजकुमार अग्रवाल ने कहा कि सरकार ने हमेशा व्यापारियों के साथ वादाखिलाफी की है। कोविड कर्फ्यू (Curfew) के दौरान शराब की दुकानें तीन दिन और परचून की दुकान दो दिन खोल कर सरकार क्या संदेश देना चाहती है। सरकार को चाहिए था कि बाजार खुलने की समय सीमा बढ़ाई जाए मगर सरकार ने ऐसा न कर हठधर्मिता का परिचय दिया है।

 

News Trendz आप सभी से अपील करता है कि कोरोना का टीका (Corona Vaccine) ज़रूर लगवाये, साथ ही कोविड नियमों का पालन अवश्य करे।

 

यह भी पढ़े:  http://Uttarakhand: राजधानी दून में पहली बार मिली दुर्लभ प्रजाति की Yellow monitor lizard