ग्रीष्मकालीन अवकाश के बाद आज से खुले विश्वविद्यालय व महाविद्यालय: ऑनलाइन होगी पढाई

dhan singh rawat
 

देहरादून: ग्रीष्मकालीन अवकाश के बाद प्रदेश के सभी विश्वविद्यालय व महाविद्यालय सोमवार से खुल गए हैं। कोरोना प्रोटोकाल के तहत फिलहाल संस्थानों में शिक्षक व स्टाफ को आने की ही अनुमति है। जिन कालेज में स्मार्ट क्लास रूम हैं, वहां के शिक्षक छात्रों से आनलाइन जुड़ेंगे। अन्य शिक्षक उपलब्ध अन्य प्रकार के आनलाइन प्लेटफार्म पर विषयवार पढ़ाई करवाएंगे।

कोरोना के चलते पैदा हुए संकट को देखते हुए शिक्षा संस्थानों को बंद कर दिया गया था। इसी दौरान सरकार ने ग्रीष्मावकाश घोषित किया हुआ था जो शनिवार को खत्म हुआ। बता दे कि सरकार ने बीती सात मई को आदेश जारी कर 12 जून तक विश्वविद्यालयों एवं डिग्री कॉलेज में ग्रीष्मावकाश घोषित कर दिया था। इसके बाद इस अवकाश को शनिवार तक बढ़ाया गया था।

उच्च शिक्षा राज्यमंत्री डा धन सिंह रावत कहा कि पढ़ाई 21 जून से ऑनलाइन माध्यम से शुरू हो जाएगी। उन्होंने कहा था कि 21 जून आज से सभी विश्वविद्यालयों एवं डिग्री कालेजों में पढ़ाई शुरू की जाएगी। संस्थानों में केवल शिक्षको को बुलाया जाएगा। कोरोना वायरस के खतरे को देखते हुए विद्यार्थियों को नहीं बुलाया जाएगा। ऑफलाइन पढ़ाई को लेकर फैसला कोरोना वायरस के मामले नियत्रंण मे होने के बाद लिया जाएगा। माना जा रहा हैं कि अगले माह के पहले सप्ताह में कोई बड़ा फैसला इस दिशा में लिया जा सकता है।

श्रीदेव सुमन विवि के कुलपति डा. पीपी ध्यानी ने बताया कि फिलहाल आनलाइन पढ़ाई पर फोकस किया जाएगा। साथ ही जिन सेमेस्टर की परीक्षाएं लंबित हैं, उनकी तैयारी भी करवाई जाएगी। डीएवी पीजी कालेज के प्राचार्य डा. अजय सक्सेना ने बताया कि अभी उच्च शिक्षा निदेशालय के दिशा-निर्देशों के अनुसार कालेज में छात्र-छात्राएं नहीं आएंगे। केवल शिक्षक व स्टाफ मौजूद रहेगा। शिक्षक छात्रों के साथ आनलाइन जुड़कर पढ़ाई करवाएंगे।

News Trendz आप सभी से अपील करता है कि कोरोना का टीका (Corona Vaccine) ज़रूर लगवाये, साथ ही कोविड नियमों का पालन अवश्य करे।

यह भी पढ़े: हरिद्वार में बनेगा देश का पहला आयुर्वेदक कैंसर संस्थान: हरक सिंह रावत