Uttarakhand: विधायक दल की बैठक के साथ सत्ता परिवर्तन की संभावनाएं तेज़ ,देखे वीडियो

देहरादून: उत्तराखंड (uttarakhand) में मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत के खिलाफ जारी असंतोष को लेकर भाजपा नेतृत्व बेहद गंभीर है। नेतृत्व की गंभीरता का अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि पार्टी के संसदीय बोर्ड ने शनिवार को पार्टी उपाध्यक्ष रमन सिंह को बतौर पर्यवेक्षक देहरादून भेजकर स्थिति की जानकारी ली। इस पूरी प्रक्रिया में शामिल एक वरिष्ठ नेता ने कहा कि स्थिति बेहद गंभीर है और हालात संभालने के लिए सभी विकल्प खुले हैं। गैरसैंण में चल रहे बजट सत्र को बीच में ही अनिश्चितकालीन तक स्थगित कर दिय। और मुख्यमंत्री सीधे देहरादून बैठक में शामिल होने आ गए।

हालात संभालने के लिए तीन से चार दिन के अंदर विधायक दल की बैठक बुलाए जाने की चर्चा है। सूत्रों का कहना है कि अगर विधायक दल की बैठक हुई तो इसका सीधा अर्थ है कि राज्य में नेतृत्व परिवर्तन तय है। सीएम पद की रेस में केंद्रीय मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक, सतपाल महाराज और सांसद अनिल बलूनी हैं। हालांकि चुनाव नजदीक होने के कारण नेतृत्व मंत्रिमंडल विस्तार के जरिए नेतृत्व परिवर्तन की स्थिति नहीं आने देने का प्रयास भी कर सकता है।