Uttarakhand: पहली बार ग्लव्स पहनकर वोट डालेंगे मतदाता, निर्वाचन आयोग ने दिए निर्देश

देहरादून:  इस साल उत्तराखंड (Uttarakhand) में सल्ट विधानसभा सीट पर होने वाले उपचुनाव में मतदाता ग्लव्स पहनकर वोटिंग करेंगे। पहली बार ऐसा होगा की चुनाव में मतदाताओं को वोटिंग और रजिस्टर पर हस्ताक्षर करने से पहले हाथों में दस्ताने पहनने होंगे। निर्वाचन आयोग ने यह प्रावधान कोविड-19 महामारी के संक्रमण से रोकथाम करने के उद्देश्य से किया है विधायक सुरेंद्र सिंह जीना के असामयिक निधन से खाली हुई सल्ट विधानसभा के उपचुनाव के लिए 17 अप्रैल को वोट डाले जाएंगे। चुनाव के लिए नामांकन भरने की प्रक्रिया आरंभ हो गई है जो 30 मार्च तक चलेगी। 31 मार्च को नामांकन पत्रों की जांच होगी और तीन अप्रैल तक नाम वापस लिए जा सकेंगे।

यह उपचुनाव ऐसे समय में हो रहे हैं जब एक बार फिर भारत में कोविड-19 महामारी के संक्रमण फैलाव का खतरा बढ़ रहा है। यही वजह है कि निर्वाचन आयोग उपचुनाव के दौरान कोविड-19 महामारी रोकथाम की मानक प्रचालन प्रक्रिया को कड़ाई से लागू कर रहा है। सहायक निर्वाचन अधिकारी मस्तू दास के मुताबिक, जिन बूथों में एक हजार से अधिक मतदाता हैं, उन्हें दो बूथों में बदला गया है। सल्ट विधानसभा में 1000 मतदाता वाले 15 बूथ हैं 2017 के विधानसभा चुनाव में बूथों की संख्या 136 थी, जिसे बढ़ाकर 151 किया गया है। बूथों की संख्या बढ़ने से सामाजिक दूरी का पालन कराने में सहजता रहेगी वोटिंग का समय भी एक घंटा बढ़ाया गया है। उपचुनाव के लिए सुबह आठ बजे के स्थान पर सुबह सात बजे से वोटिंग होगी जो शाम पांच बजे तक जारी रहेगी। पोलिंग बूथ की कतारों में मतदाता को मास्क और सैनिटाइजर तथा सामाजिक दूरी का अनिवार्य रूप से पालन करना होगा।

यह भी पढ़े:http://Azan Row: अज़ान विवाद पर बोले सपा के पूर्व मंत्री नारद राय- मंदिरों में स्पीकर से मांगा जाता है चंदा, मस्जिदों से नहीं