श्री बदरीनाथ धाम के कपाट खुलने की तैयारियां अंतिम चरण में: 15 मई को खुलेंगे कपाट

देहरादून: श्री बदरीनाथ धाम (Shri Badrinath Dham) के कपाट इस यात्रा वर्ष 15 मई को प्रात: 4 बजकर 30 मिनट पर खुल रहे है। देवस्थानम बोर्ड के चुनिंदा कर्मचारी विगत दिनों से कपाट खुलने की व्यवस्थाओ में जुटे हैं।

बदरीनाथ धाम (Badrinath Dham) के मंदिर परिसर से बर्फ हटायी जा चुकी है। मंदिर पर रंग रोगन भी अंतिम चरण में है। बिजली तथा पानी की व्यवस्था बहाल की जा चुकी है। इस दौरान सोशल डिस्टेंसिंग (शारीरिक दूरी) का विशेष ध्यान रखा जा रहा है। मंदिर के सभी कार्यक्रमों में मास्क पहनना अनिवार्य किया गया है। कपाट खुलने के कार्यक्रम के तहत 13 मई बुधवार को नृसिंह मंदिर जोशीमठ से आदि गुरू शंकराचार्य जी की डोली प्रस्थान योग-ध्यान बदरी मंदिर पांडुकेश्वर प्रस्थान करेगी। 14 मई को श्री उद्धव जी एवं कुबेर जी गाडू घड़ा (तेल कलश) यात्रा के साथ साय:काल तक श्री बदरीनाथ धाम पहुंच जायेंगे। नरेन्द्र नगर राजदरबार से तेल कलश यात्रा 5 मई को शुरू हो रही है।

उत्तराखंड चारधाम देवस्थानम् बोर्ड के मीडिया प्रभारी डा० हरीश गौड़ ने यह जानकारी देते हुए बताया कि विगत दिनों देवस्थानम् बोर्ड के कर्मचारी अधिकारी तैयारियों हेतु बदरीनाथ धाम पहुंचे थे। देवस्थानम बोर्ड के अभियंता विपिन तिवारी एवं अवर अभियंता गिरीश रावत कार्य करवा रहे है। उन्होंने बताया कि गढ़वाल आयुक्त एवं देवस्थानम बोर्ड के सीईओ रमन रविनाथ ने चार धाम कपाट खुलने की तैयारियों हेतु आदेश किये थे। गंगोत्री-यमुनोत्री में उपजिलाधिकारी भटवाड़ी एवं बड़कोट को निर्देशित किया गया था। बी0 डी0 सिंह (आईएफएस) को बदरीनाथ एवं केदारनाथ में कपाट खुलने की तैयारियों का जिम्मा दिया गया है।

फ़िलहाल कोरोना महामारी पर नियंत्रण के पश्चात चारधाम यात्रा जल्दी शुरू होने की उम्मीद जताई जा रही है। यद्यपि अभी चारों धामों के केवल कपाट खुल रहे है। कोरोना महामारी से बचाव के तहत जारी सरकारी एडवाइजरी के अनुसार फिलहाल धार्मिक स्थलों में तीर्थ यात्रियों को आने की अनुमति नहीं है। सीमित संख्या में व्यवस्थाओ से जुड़े चुनिंदा लोग श्री बदरीनाथ धाम (Shri Badrinath Dham) में उपस्थित रहेंगे।

बताया गया है कि श्री बदरीनाथ धाम (Shri Badrinath Dham) के रावल ईश्वरी प्रसाद नंबूदरी ऋषिकेश में 14 दिन के क्वारंटीन में है एवं वह स्वस्थ है तथा उनके तीन सेवादारों का स्वास्थ्य भी सामान्य है। एम्स ऋषिकेश से उनकी पहली कोरोना रिपोर्ट नैगेटिव आयी है। एतिहात के तौर पर 4 मई को उनका दूसरा कोरोना टेस्ट होना है। उसके पश्चात 5 मई को नृसिंह मंदिर जोशीमठ पहुंच जायेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.