Uttarakhand: जंगली जानवरों का शिकार करने के आरोप में अधिवक्ता सहित चार गिरफ्तार

uttarakhand
 

देहरादून: विकासनगर टिमली रेंज क्षेत्र के अंतर्गत वन विभाग की टीम ने शनिवार तड़के जंगली जानवरों को मारने के आरोप में चार लोगों को गिरफ्तार किया है। आरोपियों के कब्जे से वन विभाग की टीम ने एक बंदूक बारह बोर की, तीन जिंदा कारतूस सहित अन्य सामान बरामद किया है। वन विभाग ने आरोपियों के खिलाफ वन्यजीव संरक्षण अधिनियम में मुकदमा दर्ज कर दिया है। टिमली रेंज की कक्ष संख्या तीन में शनिवार वन विभाग की टीम रेंज अधिकारी पूजा रावल के नेतृत्व में गश्त पर थी। इस दौरान वन कर्मियों को जंगल के अंदर एक कार दिखाई दी। जिस पर वन विभाग की टीम को शिकारियों के जंगल में होने का अंदेशा हो गया। वन विभाग की टीम कार के समीप छुप कर आरोपियों को दबोचने के लिए घात लगाकर बैठ गयी। तभी जंगल के अंदर गोली चलने की आवाज सुनाई दी।

गोली चलने के बाद शिकार को ढूंढने के लिए जैसे ही आरोपी कार के समीप पहुंचे तभी वन कर्मियों ने आरोपियों को दबोच लिया। आरोपी अधिवक्ता अजब सिंह तोमर पुत्र दलीप सिंह तोमर निवासी एनफील्ड विकासनगर, अजब सिंह चौहान पुत्र जयसिंह चौहान निवासी बाड़वाला डुमेट, जवाह रसिंह पुत्र देवी राम चौहान निवासी दसेऊ और आशीष उनियाल पुत्र मायादत्त निवासी दिनकर विहार विकासनगर को वन विभाग की टीम ने गिरफ्तार किया। आरोपी अजब सिंह के पास से टीम ने बारह बोर की बंदूक बरामद की। एक आरोपी के सिर पर लगी सर्च लाइट पुलिस ने बरामद की। आरोपियों से पुलिस ने तीन जिंदा कारतूस, एक चीतल के सींघ बरामद किये हैं।आरोपियों से बरामद कार पर जंगली जानवरों के खून के धब्बे लगे थे। रेंज अधिकारी पूजा रावल ने बताया कि आरोपियों ने पूछताछ में बताया कि दो दिन पहले उन्होंने चीतल को मारा है। आज भी जंगल में एक जानवर को निशाना बनाया। जिसकी वे तलाश कर रहे थे। रेंज अधिकारी ने बताया कि आरोपियों को कोर्ट में पेश करने के बाद न्यायिक अभिरक्षा में जेल भेज दिया है। बताया कि मामले की जांच की जा रही है। घटना स्थल पर चलायी गयी गोली के खोखे की तलाश करने सहित चलायी गयी गोली के शिकार जानवर की तलाश की जा रही है। वन विभाग की टीम में वन दरोगा अरुण जोशी, आरक्षी अनुज यादव, सोमेंद्र पाल आदि शामिल रहे।

News Trendz आप सभी से अपील करता है कि कोरोना का टीका (Corona Vaccine) ज़रूर लगवाये, साथ ही कोविड नियमों का पालन अवश्य करे।

यह भी पढ़े:  http://Uttarakhand: 7 जून को कर्फ्यू में छूट को लेकर फैसला , विकासखंड स्तर की स्थिति देखकर होगा फैसला