उत्तराखंड के इन रास्तों पर न करे सफर: भारी बारिश, भूस्खलन से आवाजाही ठप

उत्तराखंड

देहरादून: देश के अलग अलग राज्यों में बारिश ने तबाही मचा रखी है। ऐसे में बारिश के चलते हो रही तबाही से पहाड़ भी अछूता नहीं है। उत्तराखंड में जगह जगह भारी बारिश का दौर जारी है। जिसकी वजह से सड़कें अवरुद्ध हो रही हैं। कुछ रास्ते खुल गए हैं लेकिन कुछ रास्तों को खोलने में भारी मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है।

उत्तराखंड की राजधानी देहरादून की बात करे तो देहरादून जिले में कालसी-चकराता मोटर मार्ग भारी बारिश के कारण बंद हो गया है। बताया जा रहा है कि बीती रात करीब 1 बजे जज रेड और ककाडी खंड के पास मलबा आने से मार्ग बंद हो गया। मार्ग के दोनों तरफ वाहनों की लंबी कतार लग गई है। इस बीच मलबा हटाने के लिए जेसीबी लगी हुई है।

https://www.newstrendz.co.in/dainik-rashifal/daily-horoscope-aaj-ka-rashifal-by-astro-rajeev-agarwal/

वही केदारनाथ, बदरीनाथ व गंगोत्री हाईवे बंद हैं। पिथौरागढ़ में चीन सीमा को जोड़ने वाले मार्गों पर भी आवाजाही नहीं हो पा रही है।
रुद्रप्रयाग में गौरीकुंड हाईवे बांसवाड़ा व कुंड में अवरुद्ध चल रहा है। तो चमोली जिले में मंडल-चोपता व गोपेश्वर-हाफला रूट अभी भी बंद है।

टिहरी में ऋषिकेश-गंगोत्री राजमार्ग नागणी के पास मलबा आने से बंद है। फ़िलहाल शाम तक मार्ग खुलने की उम्मीद जताई जा रही है।
इसके अलावा टिहरी जिले में 6 लिंक रोड भी बंद है। मसूरी-कैंपटी फॉल-यमुना पुल मार्ग बंद होने के साथ ही पिथौरागढ़-धारचूला मार्ग बंद है। इसके साथ ही घाट-सोबला, थल-मुनस्यारी मार्ग बंद किया गया है। मजकोट-मुनस्यारी, जौलजीबी-मजकोट मार्ग भी बंद है।

उत्तराखंड में लगातार हो रही मूसलाधार बारिश के चलते सड़के कट गयी हैं। जिससे पहाड़ों में रहने वालों के लिए मुश्किलें बढ़ गयी है
उत्तराखंड सहित अन्य राज्यों में बारिश आफत का सबब बन कर आई है।

 

यह भी पढ़े: जम्मू-कश्मीर के बारामूला में नाका पार्टी पर आतंकी हमला, एक पुलिस अफसर सहित दो जवान शहीद