Uttarakhand: दो दिन में ही समाप्त हो गया ऐतिहासिक झंडा जी मेला, श्रद्धालुओं से प्रशासन ने की वापस जाने की अपील

uttarakhand

देहरादून: उत्तराखंड Uttarakhand में हर साल होने वाले झंडा जी मेला दो अप्रैल से प्रारम्भ हुआ था। जिसका रविवार को विधिवत समापन किया गया। कोरोना महामारी के बढ़ते प्रकोप के चलते देहरादून में का झंडा मेला मात्र दो दिन ही चल पाया। रविवार को करीब साढ़े सात बजे शुरु हुई नगर परिक्रमा के बाद श्रीमहंत देवेंद्र दास महाराज ने मेले में आए सभी श्रद्धालुओं के साथ संगतों को प्रसाद वितरित कर मेले के समापन की घोषणा की। इसके साथ ही सभी को अपने राज्यों में लौट जाने को कहा।

आपको बता दे उत्तराखंड Uttarakhand की राजधानी देहरादून में होने वाला झंडा मेला होली के 5 वें दिन में शुरू होकर 23 दिन तक राम नवमी को समाप्त होता था, लेकिन इस बार कोरोना महामारी के चलते देहरादून का प्रसिद्ध झंडा मेला भी सीमित कर दिया गया। कोरोना के चलते इस बाद नगर परिक्रमा के रूट को छोटा किया गया था वहीं, शनिवार सुबह से ही संगतों ने श्री झंडेजी में मत्था टेक सुख समृद्धि की कामना की। कोरोना के चलते 90 फीसदी संगतें एक दिन में ही लौट गईं।

 

यह भी पढ़े: http://उद्धव सरकार का फैसला राज्य में लगेगा वीकेंड लॉकडाऊन: नियमों का कड़ाई से होगा पालन