Uttarakhand: दुष्कर्म के आरोप में हवालात में बंद कैदी ने की आत्महत्या, शौचालय में लटक कर दी जान

देहरादून: लोहाघाट बंदीगृह में एक कैदी ने हुड की डोरी का फंदा बनाकर आत्महत्या कर ली है। आत्महत्या करने वाला  व्यक्ति बीते 14 दिन से बनबसा की एक किशोरी के अपहरण और दुष्कर्म के आरोप में जेल में था।

पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया शव

पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। उत्तर प्रदेश के बदायूं जिले के खेड़ा कश्मीर गांव का 22 साल के जितेंद्र पुत्र खुशीराम पर एक किशोरी का अपहरण कर दुष्कर्म करने का आरोप लगा।

मोबाइल की लोकेशन से किशोरी को जितेंद्र के घर से किया था बरामद

आरोपी काफी समय से बनबसा में रहता था। किशोरी की गुमशुदगी रिपोर्ट दर्ज होने के बाद बनबसा पुलिस ने मोबाइल की लोकेशन से किशोरी को जितेंद्र के बनबसा के घर से बरामद किया था। किशोरी की बरामदगी के बाद पुलिस ने आरोपी के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया था।

मंगलवार सुबह लटका मिला कैदी जितेंद्र
अदालत के आदेश पर आरोपी 9 जनवरी से लोहाघाट बंदीगृह में था। मंगलवार सुबह कैदी जितेंद्र शौचालय में बल्ली के सहारे लटका मिला। बंदीगृह प्रभारी से वारदात की जानकारी मिलने पर एसडीएम आरसी गौतम और सीओ ध्यान सिंह फौरन मौके पर पहुंचे।

किशोरी को अगवा करने के बाद बंधक बनाकर किया दुष्कर्म

सितारगंज के बहेड़ी थाना क्षेत्र के एक गांव में सुबह चार बजे घर के बाहर बने शौचालय के लिए निकली किशोरी को एक युवक अगवा कर ले गया। बाद में तलाश हुई तो किशोरी गांव के पास खेत में बेहोशी की हालत में मिली। उसके हाथ पीछे बंधे हुए थे और मुंह में कपड़ा ठूंसा हुआ मिला। किशोरी ने दुष्कर्म का आरोप लगाया है। पुलिस ने आरोपी के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कर ली है ।