दिनेश सिंह का पूरे सैन्य सम्मान के साथ अल्मोड़ा के पैतृक गांव में हुआ अंतिम संस्कार

देहरादून: जम्मू-कश्मीर (Jammu-Kashmir) के हंदवाड़ा जिले में आतंकवादियों से लड़ते हुए शहादत पाने वाले 21 राष्ट्रीय राइफल्स के लांस नायक दिनेश सिंह का अंतिम संस्कार अल्मोड़ा (Almora) जिले के उनके गांव मीरगांव में पूरे सैन्य सम्मान के साथ किया गया। अंतिम संस्कार में राज्य प्रशासन के प्रमुख सैन्य अधिकारियों और नागरिक गणमान्य लोगों ने भाग लिया। शहीद के शव को सड़क मार्ग से बरेली से अल्मोड़ा लाया गया।

स्वर्गीय लांस नायक दिनेश सिंह उस टीम का हिस्सा थे, जिसमें पांच सेना और एक जम्मू कश्मीर पुलिस के कर्मी शामिल थे, जो उस घर में घुसे थे, जिसमें 02 मई 2020 को आतंकवादियों ने हंदवाड़ा में नागरिकों को बंधक बना लिया था। इस ऑपरेशन के दौरान टीम ने सफलतापूर्वक नागरिकों को निकाल लिया था। टीम के ऊपर आतंकवादियों द्वारा भारी मात्रा में गोलीबारी की गयी। इस ऑपरेशन के दौरान भारी गोलीबारी में दो आतंकवादियों को समाप्त कर दिया गया था। परंतु लांस नायक दिनेश सिंह सहित सुरक्षा बलों के पांचो जवान राष्ट्र की सेवा में शहीद हो गये।

बहादुर जाँबाज लांस नायक दिनेश सिंह गार्ड रेजिमेंट की 17वीं बटालियन में 05 जनवरी 2015 को सेना में शामिल हुए थे और वर्तमान में राष्ट्रीय राइफल्स बटालियन में कार्यरत थे । दिनेश सिंह ने फ़ोन पर अपने परिवार से जल्द छुट्टियों पर घर आने की बात कही थी लेकिन परिवार को क्या पता था की बेटा तिरंगे में लिपटा हुआ घर आएगा। शहीद लांस नायक दिनेश के पार्थिव शरीर को देखकर पूरे गांव का रो रो कर बुरा हाल था।

वही शहीद दिनेश सिंह के अंतिम संस्कार में पहुंचे उत्तराखंड के कैबिनेट मंत्री यशपाल आर्य ने कहा कि उत्तराखंड (Uttarakhand) के लोगों ने देश के लिए हमेशा कुर्बानी दी है और तीनों जवानों ने अपनी ज़िंदगी कुर्बान कर शहादत की विरासत को आगे बढ़ाया है। इन तीनों शहीदों पर उत्तराखंड ही नही बल्कि देश को भी नाज़ है।

 

यह भी पड़े: http://मुख्य सचिव उत्पल कुमार सिंह ने कोविड-19 के सम्बन्ध में की प्रेसवार्ता

Leave a Reply

Your email address will not be published.