Uttarakhand: जल्द ही बद्रीनाथ धाम और केदारनाथ धाम में पहुचेगी रेल

uttarakhand
 

रुद्रप्रयाग: जल्द ही बद्रीनाथ धाम और केदारनाथ धाम में रेल दौड़ने लगेगी। जी हाँ ट्रैन पहुंचाने का सर्वे पूरा कर लिया गया है।केदारनाथ और बदरीनाथ धाम के लिए प्रस्तावित रेल लाइन का सीमांकन, सर्वेक्षण व चिह्नीकरण का कार्य पूरा कर लिया गया है। रेलवे स्टेशन कहां-कहां बनने हैं, इसके लिए सीमांकन हो चुका है और रेलवे की भूमि के चारों ओर पिलर लगा दिए गए हैं। इसके अलावा सोनप्रयाग से केदारनाथ के बीच रोपवे लगाने का प्रस्ताव रेल मंत्रलय को भेजा जा रहा है।

रेलवे विकास निगम लि. (आरवीएनएल) के अनुसार कर्णप्रयाग-केदारनाथ रेल लाइन सोनप्रयाग तक 91 किमी लंबी होगी। जिन स्थानों से यह लाइन गुजरेगी, वहां पिलर लगा दिए गए हैं। जबकि कर्णप्रयाग-बदरीनाथ रेल लाइन की लंबाई जोशीमठ तक 68 किमी होगी। यहां भी सभी चिह्नित स्थानों पर पिलर लगा दिए गए हैं। कर्णप्रयाग से केदारनाथ तक छह, जबकि कर्णप्रयाग से बदरीनाथ तक पांच स्टेशन होंगे। इनका सीमांकन कार्य पूरा हो चुका है। आरवीएनएल के सीनियर मैनेजर (सर्वे) सिद्धार्थ चौहान ने बताया कि प्रस्तावित केदारनाथ रेल लाइन पर जिन स्टेशनों का सीमांकन किया गया है, उनमें कर्णप्रयाग से आगे साइकोट, बड़ेथ, चोपता-फलासी (तल्ला नागपुर), मक्कूमठ, गडगू व सोनप्रयाग शामिल हैं। इनमें चोपता-फलासी, मक्कूमठ और गडगू में बनने वाले स्टेशन अंडरग्राउंड होंगे।

News Trendz आप सभी से अपील करता है कि कोरोना का टीका (Corona Vaccine) ज़रूर लगवाये, साथ ही कोविड नियमों का पालन अवश्य करे।

यह भी पढ़े:  http://कोरोना की दूसरी लहर बच्चों के लिए कितनी रही घातक, देखे AIIMS की रिपोर्ट