Uttarakhand: वैक्सीनेशन को लेकर, पूर्व सीएम हरीश रावत ने उठाए सवाल

Uttarakhand
 

देहरादून: पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत ने कोरोना वैक्सीनेशन को लेकर सवाल उठाए हैं। उन्होंने कहा कि निजी अस्पतालों में जिस तक वैक्सीनेशन के लिए 1200 रुपये से लेकर 1500 रुपये लिए जा रहे हैं, वह आर्थिक रूप से कमजोर उत्तराखंड के व्यक्तियों पर बड़ा भार है। रविवार को पूर्व मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने इंटरनेट मीडिया में एक पोस्ट कर कहा कि कोरोना के कारण प्रदेश के निवासियों की आर्थिक स्थिति खराब हो चुकी है। कोरोना संक्रमण के साथ ही आर्थिक गतिविधियां व कामधंधा बंद होने के कारण लोग पहले से ही खस्ता हालत में हैं। अब जान बचाने के लिए जो सहारा नजर आ रहा है, वह वैक्सीन है। वैक्सीन भारत सरकार को 150 रुपये के हिसाब से मिल रही है।

राज्यों से कहा जा रहा है कि वे कंपनियों से 500 रुपये के हिसाब से वैक्सीन खरीदें। निजी अस्पताल इसके कहीं अधिक दाम वसूल रहे हैं। लोगों में कोरोना को लेकर जो भय है, उसका दोहन किया जा रहा है। जीवन बचाने के लिए जो सहारा है, उसकी आड़ में बड़ी लूट की जा रहा है। इसे देखने वाला भी कोई नहीं है। ऐसे में निजी अस्पतालों में वैक्सीन लगाना प्रदेश के निवासियों पर बड़ा भार बन रहा है।

 

News Trendz आप सभी से अपील करता है कि कोरोना का टीका (Corona Vaccine) ज़रूर लगवाये, साथ ही कोविड नियमों का पालन अवश्य करे।

 

यह भी पढ़े: http://Uttarakhand: देहरादून में घातक एस्परजिलस फंगस ने दी दस्तक, इम्यूनिटी कम होने पर दिखा रहा खतरनाक रूप