वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए प्रधानमंत्री ने लॉन्च कि ‘गरीब कल्याण रोजगार योजना

कोरोना संक्रमण Corona Virus के बीच लॉकडाउन में घर लौटे श्रमिकों की बेरोजगारी से निपटने के लिए केंद्र सरकार ने एक खास अभियान शुरू किया है। इस योजना का नाम गरीब कल्याण रोजगार है। इस योजना की लॉन्चिंग आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने की।

दिल्ली: कोरोना (Corona Virus) लॉकडाउन में प्रवासी श्रमिकों को तमाम मुक्शीलों का सामना करना पड़ा है। कोरोना के चलते हुए लॉक डाउन में बड़े पैमाने पर घर लौटने के लिए मजबूर होना पड़ा है। ऐसे में प्रवासी मजदूरों के सामने रोजगार का संकट खड़ा हो गया है। इस हालात से निपटने के लिए केंद्र सरकार एक खास अभियान शुरू किया है। इस योजना का नाम गरीब कल्याण रोजगार है। योजना की लॉन्चिंग आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा की गयी।

गरीब कल्याण रोजगार अभियान नाम की इस योजना को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए बिहार में लॉन्च किया गया। इस योजना के डिजिटल शुभारंभ में पांच अन्य राज्यों के मुख्यमंत्री और कुछ केंद्रीय मंत्रीयो ने हिस्सा लिया।

 

प्रधानमंत्री ने की अभियान की शुरुवात:
पीएम मोदी बिहार के मुख्यमंत्री और उपमुख्यमंत्री की मौजूदगी में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से इस अभियान की शुरुआत की। यह अभियान बिहार के खगड़िया जिले के ग्राम-तेलिहार, ब्लॉक- बेलदौर से लॉन्च किया।
पीएम मोदी ने कहा कि लद्दाख में जिन वीरों ने बलिदान दिया है. ये पराक्रम बिहार रेजीमेंट का है। हर बिहारी को इस पर गर्व है। बिहार के जिन साथियों ने बलिदान दिया है उन्हें श्रद्धा सुमन अर्पित करता हूँ मैं विश्वास दिलाना चाहता हूं देश आपके साथ है।

प्रधानमंत्री ने कहा 6 लाख से ज्यादा गांवों वाला देश भारत जहां की दो तिहाई से ज्यादा आबादी लगभग 80-85 करोड़ लोग गांवों में रहते हैं। उस ग्रामीण भारत ने कोरोना संक्रमण (Corona Virus) को बड़े प्रभावी तरीके से रोका है। ये जनसंख्या यूरोप के सारे देशों को मिला दें तो भी उससे ज्यादा है।

बिहार के मुख्यमंत्री ने जीएसटी में छूट देने की मांग की:
तो वही नीतीश कुमार ने कहा कि गरीब कल्याण योजना से काफी लोगों को लाभ मिलेगा। नीतीश कुमार ने जीएसटी में छूट देने की मांग की। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार ने गरीब कल्याण योजना के जरिये लोगों की मदद का प्रयास किया है यह सराहनीय है।

ग्राउंड पर काम करने वालों को प्रधानमंत्री ने किया नमन:

प्रधानमंत्री ने अंत में ग्राउंड पर काम करने वाले हमारे साथी, ग्राम प्रधान, आंगनबाड़ी वर्कर, आशा वर्क इन सभी ने बहुत बेहतरीन काम किया है और ये सभी वाहवाही के पात्र हैं। उन्होंने कहा कोई आपकी पीठ थपथपाए या न थपथपाए पर मैं आपका जय जयकार करता रहूंगा। मैं ऐसे ग्राम सेवकों को आदरपूर्वक नमन करता हूं।

ग्राउंड पर काम करने वाले हमारे साथी, ग्राम प्रधान, आंगनबाड़ी वर्कर, आशा वर्क इन सभी ने बहुत बेहतरीन काम किया है और ये सभी वाहवाही के पात्र हैं।कोई आपकी पीठ थपथपाए या न थपथपाए पर मैं आपका जय जयकार करता रहूंगा।मैं ऐसे ग्राम सेवकों को आदरपूर्वक नमन करता हूं:प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी https://t.co/BBUkyMO6Gu pic.twitter.com/1EGCSht3NF

— ANI_HindiNews (@AHindinews) June 20, 2020

50 हज़ार करोड़ रुपए की गरीब कल्याण योजना:
गरीब कल्याण रोज़गार अभियान के तहत आपके गांवों के विकास के लिए आपको रोजगार देने के लिए 50 हज़ार करोड़ रुपए खर्च किए जाने हैं। इस राशि से गांवों में रोजगार के लिए विकास के कामों के लिए करीब 25 कार्यक्षेत्रों की पहचान की गई है।

 


गरीब कल्याण रोज़गार अभियान से आपके इस आत्मसम्मान की सुरक्षा भी होगी और आपके श्रम से आपके गाँव का विकास भी होगा। आज आपका ये सेवक, और पूरा देश, इसी सोच के साथ, इसी संकल्प के साथ आपके मान और सम्मान के लिए काम कर रहा है।

 

प्रवासी मजदूरों के लिए सरकार की नई योजना के अंतर्गत116 जिलों में मिलेगा रोजगार:

आपको बता दें कि कोरोना महामारी Corona Virus के मद्देनजर सोशल डिस्टेंसिंग के नियमों का पालन करते हुए 6 राज्यों के 116 जिलों के गांव सार्वजनिक सेवा केंद्रों और कृषि विज्ञान केंद्रों के माध्यम से इस कार्यक्रम में जुड़ेंगे। 125 दिनों का यह अभियान मिशन मोड में चलाया जाएगा। 50 हजार करोड़ रुपये के फंड से एक तरफ प्रवासी श्रमिकों को रोजगार देने के लिए विभिन्न प्रकार के 25 कार्यों का तीव्र और केंद्रित होकर क्रियान्वयन होगा, तो दूसरी तरफ देश के ग्रामीण क्षेत्रों में बुनियादी ढांचे का निर्माण किया जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.