सीएम योगी की उच्च अधिकारीयों के साथ बैठक: प्रदेश में सामाजिक कार्यक्रमों पर रोक

कोरोना संक्रमण की वजह से देश में लॉक डाउन लगा है इस लॉक डाउन के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश में सभी धार्मिक और सामाजिक समारोह पर रोक लगी है। जिसको लेकर सीएम ऑफिस द्वारा ट्वीट भी किया गया। जिसमे उन्होंने होली मिलान जैसे समारोह को रद्द करने के आदेश दिए है यही नहीं प्रदेश में किसी भी तरह का सामाजिक आयोजन जिसमे भीड़ एकत्रित होने की आशंका है। इस तरह के कार्यकर्म पर भी प्रदेश सरकार ने पूरी तरह से रोक लगा दी है। इसको लेकर सीएम के साथ उच्च अधिकारीयों की बैठक की जिसकी अध्यक्षता खुद सीएम योगी आदित्यनाथ द्वारा की गयी ।
इस बैठक में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Yogi Aditiyanath) ने अधिकारियों को निर्देशित किया है कि किसी के पास राशन कार्ड अथवा आधार कार्ड हो या ना हो, वह शहर का नागरिक हो अथवा गांव का, अगर वह जरूरतमंद है तो उसे खाद्यान्न अवश्य मिले यही नहीं उन्होंने ने अधिकारियों को लॉकडाउन के बीच आमजन की सुरक्षा व सुविधा का यथोचित ध्यान रखने के निर्देश दिए हैं।

लॉक डाउन कि स्थिति की समीक्षा करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि यह सुनिश्चित किया जाए कि प्रदेश में निवासरत एक भी व्यक्ति भूखा ना रहे।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ  (Yogi Aditiyanath) ने अधिकारीयों से कहा कि प्रत्येक स्थिति में सुनिश्चित किया जाए कि कम्युनिटी किचेन से जरूरतमंदों और शेल्टर होम्स के निराश्रितों को भोजन मिलता रहे। कम्युनिटी किचन की व्यवस्था अच्छी है, इसे आगे बढ़ाना होगा। कम्युनिटी किचन हेतु मोहल्ले वार सर्वे तथा समीक्षा किया जाना भी आवश्यक है।
इस बैठक के दौरान अधिकारीयों ने बताया कि हॉटस्पॉट बस्तियों के सापेक्ष 1648 डोर-स्टेप डिलीवरी मिल्क बूथ/मैन द्वारा दूध वितरित किया गया। इन बस्तियों में 3,17,276 राशन कार्डों पर खाद्यान्न वितरण हुआ है। हॉटस्पॉट क्षेत्रों में 2.29 लाख फूड पैकेट की डिलीवरी की गई है।

यही नहीं मुख्यमंत्री ने अधिकारीयों को लॉक डाउन को सख्ती से पालन करवाने के भी निर्देश दिए।

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.