कोरोना वायरस: यूपी के 15 जिलों के हॉटस्पॉट इलाके होंगे सील

उत्तर प्रदेश में कोरोना वायरस (COVID-19) के संक्रमण को तेजी से फैलते हुए देख अब योगी सरकार (Yogi Government) फ्रंट पर आ गयी है। ऐसे में सरकार ने बड़ा फैसला लेते हुए उत्तर प्रदेश के 15 जिलों के हॉटस्पाॅट इलाकों को पूरी तरह से सील करने का फैसला लिया है। ये वो इलाके हैं, जहां पर ज्यादा कोरोना पॉजिटिव मरीज मिले हैं। मुख्य सचिव आरके तिवारी द्वारा 15 जिलों के डीएम, एसएसपी और संबंधित मंडलायुक्तों को इस संबंध में पत्र जारी कर दिया गया है। जिसमे 15 जिलों के प्रभावित क्षेत्रों को सील करने के बारे में लिखा गया है। जानकारी के अनुसार बुधवार रात 12 बजे के बाद यह आदेश लागू माना जाएगा। जिनमें लखनऊ, आगरा और गाजियाबाद जैसे बड़े जिले भी शामिल हैं।

इसके साथ ही अपर मुख्य सचिव गृह अवनीश अवस्थी ने प्रेसवार्ता करते हुए बताया कि उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के 15 जिलों के हॉटस्पॉट इलाकों को पूरी तरह से सील किया जाएगा। 15 अप्रैल तक सील किए गए इन जिलों के हालात की फिर समीक्षा की जाएगी और उसके बाद ही सीलिंग की कार्रवाई पर आगे का निर्णय लिया जाएगा। यूपी में अभी तक कुल 343 कोरोना पॉजिटिव केस हैं। प्रदेश के सभी संक्रमित जिलों में से 6 या उससे अधिक कोरोना मरीजों की संख्या वाले 15 जिलों में डीएम-एसपी द्वारा 22 हॉटस्पॉट को चिह्नित करने का काम किया गया है। इन्हीं खास इलाकों को 15 अप्रैल तक सील किया जाएगा। सरकार की ओर से जारी आदेश के अनुसार जिन जिलों के हॉटस्पॉट इलाकों काे सील किया जाना है, उनमें लखनऊ, आगरा, गाजियाबाद, गौतमबुद्धनगर, कानपुर, वाराणसी, शामली, मेरठ, बरेली, बुलंदशहर, फिरोजाबाद, महाराजगंज, सीतापुर, सहारनपुर और बस्ती शामिल हैं। बताया जा रहा है कि लॉकडाउन के दौरान हो रहे उल्लंघन से संक्रमण का खतरा लगातार बढ़ता जा रहा था, जिसके बाद ये फैसला लिया गया है।

सरकार ने लोगों को राहत देने के लिए आदेश दिया है कि लोन आदि के मामले में 31 मई तक कोई बैंक किसी किसान को नोटिस जारी नहीं करेगा । इसी के साथ यह भी आदेश‌ दिया गया है कि 30 अप्रैल तक कोई भी बिना मास्क लगाए अपने घरों से बाहर नहीं निकल सकेगा। ये वो इलाके हैं, जहां पर ज्यादा कोरोना पॉजिटिव मरीज मिले हैं। मुख्य सचिव आरके तिवारी द्वारा 15 जिलों के डीएम, एसएसपी और संबंधित मंडलायुक्तों को इस संबंध में पत्र जारी कर दिया गया है. जिसमे 15 जिलों के प्रभावित क्षेत्रों को सील करने के बारे में लिखा गया है। जानकारी के अनुसार बुधवार रात 12 बजे के बाद यह आदेश लागू माना जाएगा। जिनमें लखनऊ, आगरा और गाजियाबाद जैसे बड़े जिले भी शामिल हैं।

यह भी पढ़े:       http://उत्तराखण्ड राज्य कैबिनेट का महत्वपूर्ण फैसला: होगी डॉक्टरों एवं नर्सों की भर्ती

Leave a Reply

Your email address will not be published.