प्रयागराज: योगी सरकार ने ध्वस्त किये बाहुबली अतीक अहमद के अवैध भवन

अतीक अहमद

उप्र पुलिस और प्रयागराज विकास प्राधिकरण की ओर से संयुक्त कार्रवाई की जा रही है। अतीक अहमद के हाईकोर्ट के पास स्थित भवन को गिराया जा रहा है। इसके बाद नवाब युसूफ रोड स्थित उसके भवन पर बुलडोजर चलाया जायेगा।

लखनऊ: योगी सरकार उत्तर प्रदेश के बड़े माफियाओं और बाहुबलियों पर अपना शिकंजा लगातार कसती जा रही है। अहमदाबाद जेल में बंद पूर्व सांसद बाहुबली अतीक अहमद को आर्थिक रूप से कमज़ोर करने के लिए उप्र पुलिस की कार्रवाई लगातार जारी है। शनिवार को माफिया और पूर्व सांसद अतीक अहमद के हाईकोर्ट के पास स्थित भवन को गिराया जा रहा है। इसके बाद नवाब युसूफ रोड स्थित उसके भवन पर बुलडोजर चलाया जायेगा। उप्र पुलिस और प्रयागराज विकास प्राधिकरण की ओर से संयुक्त कार्रवाई की जा रही है।

कुछ समय पहले ही जिला प्रशासन ने कई भवनों को चिन्हित किया था जो बिना प्रमाणित नक्शे के बनाए गए थे। अतीक अहमद और उसके लोगों के द्वारा ज़बरदस्ती कई भवनों पर कब्जा करने की भी शिकायत मिली थी। उप्र पुलिस ने अब तक गैंगस्टर एक्ट के तहत बाहुबली अतीक अहमद की सात सम्पत्तियों को जब्त करने की कार्रवाई की है। जिसकी अनुमानित लागत 60 करोड़ रुपये बतायी जा रही है। इसके साथ ही पुलिस 14 सितंबर तक छह अन्य सम्पत्तियों को भी कुर्क करने की तैयारी कर रही है। जबकि डीएम ने अतीक अहमद की सात अन्य सम्पत्तियों को भी कुर्क करने का आदेश जारी कर दिया है।

https://www.newstrendz.co.in/politics/congress-sonia-gandhi-congress-interim-president/

अतीक अहमद से जुड़ी कई फाइलें थाने से गायब

बड़ी खबर यह आ रही है कि अतीक अहमद के केस से जुड़ी कई अहम फाइलें ही थाने से ही गुम हो गई हैं। अब बड़ा सवाल ये खड़ा हो रहा है कि ये केस डायरी वाकई कहीं गुम हो गई है, या फिर इसे जानबूझकर गायब कर दिया गया है। हालांकि पुलिस के लिए भी अतीक अहमद के खिलाफ दर्ज मुकदमों की गायब केस डायरी अब अबूझ पहेली बनती जा रही है। दरअसल बाहुबली पूर्व सांसद अतीक अहमद का लंबा आपराधिक इतिहास है। इस मामले में एसएसपी अभिषेक दीक्षित का कहना है कि कई बार पुरानी फाइलें थानों से गायब हो जाती हैं। लेकिन अदालत में उसकी कापी सीओ आफिस और अदालत में मौजूद रहती है। जिससे नई केस डायरी रिकंस्ट्रक्ट कर ली जाती है।

अतीक अहमद एक बार फूलपुर संसदीय सीट से सपा का सांसद रहा हैं, तो वहीं पांच बार विधायक भी निर्वाचित हुआ हैं। उसके खिलाफ वर्ष 2002 में धूमनगंज थाने में दर्जनों मुकदमे एक साथ दर्ज हुए थे। बाहुबली अतीक अहमद डी-227 गैंग का सरगना भी है। अतीक के गैंग के लगभग सवा सौ सक्रिय सदस्य हैं। प्रयागराज पुलिस बाहुबली अतीक अहमद के साथ ही साथ उसके गैंग के सदस्यों पर भी शिकंजा कसने की तैयारी कर रही है।

यह भी पढ़े: 14 सितंबर से होगी मानसून सत्र की शुरुवात: नहीं होगा कोई अवकाश