शेल्टर होम में फंसे सैकड़ों लोगों को उनके घरों तक पहुंचाएगी योगी सरकार

लखनऊ: देश में 21 दिनों का लॉकडाउन (Lock down) 14 अप्रैल को खत्म हो रहा है। कोरोना वायरस (Corona Virus) संक्रमण की चेन को तोड़ने के लिए देश भर में 21 दिन का लॉक डाउन लागू है। इस बीच लगातार बढ़ रही संक्रमित मरीजों की संख्या को देखते हुए सरकार कुछ रियायतों के साथ लॉकडाउन को बढ़ा सकती है। इस बीच लॉकडाउन के दौरान प्रदेश के अलग-अलग जिलों के शेल्टर होम में फंसे सैकड़ों लोगों को उनके घर पहुंचाने की तैयारी योगी सरकार (Yogi Adityanath) ने कर ली है। शेल्टर और क्वारंटाइन (Quarantine) होम में फंसे लोगों की स्क्रीनिंग के बाद अब उन्हें उनके गंतव्य तक पहुंचाया जाएगा।

रविवार शाम को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) ने अपनी टीम के साथ एक बड़ी बैठक की इस बैठक में कोरोना वायरस की रोकथाम के साथ ही अन्य विषयों पर चर्चा हुई। इस बैठक में यह निर्णय लिया गया कि शेल्टर होम में फंसे लोगों को उनके घर पहुंचाया जाएगा। बैठक के बाद मीडिया को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि शेल्टर होम में फंसे लोगों को उनके घर पहुंचाने का निर्णय लिया गया हैं। सभी लोगों की स्क्रीनिंग होगी, उसके बाद उन्हें घर पहुंचाया जाएगा। घर में भी सभी लोगों को 14 दिन की क्वारंटाइन अवधि को पूरा करना होगा। सरकार इन लोगों को घर पहुंचाने के साथ ही राशन भी मुहैया करवाएगी।

मुख्यमंत्री ने अपने ट्वीट में कहा की “प्रदेश में जहां भी लोग 14 दिनों तक शेल्टर होम में रह चुके हैं, उनकी जांच करवाई जाए और फिर सुरक्षित 14 दिन के होम क्वारंटाइन (Quarantine) हेतु उनको घर भेजने की व्यवस्था, हम लोग करने जा रहे हैं।

यही नहीं इसके अलावा मुख्यमंत्री ने धार्मिक आयोजनों को घर में ही मनाने की अपील की। उन्होंने कहा, “आगामी पर्व और त्यौहारों के लिए भी यही अपील है जैसे 23 अप्रैल से रमजान शुरू होंगे.. सभी मौलाना, मौलवी, धर्मगुरुओं से हम लोगों की अपील है कि किसी भी पर्व, त्यौहार पर सामूहिक आयोजन न हों क्योंकि यह आयोजन बीमारी और संक्रमण को बढ़ा सकते हैं.”।

यह भी पड़े: http://देश में लॉकडाउन का उल्लंघन करने वालों पर ड्रोन रखेगा नज़र

Leave a Reply

Your email address will not be published.