उत्तर प्रदेश में कोविड-19 की स्थिति को लेकर मुख्यमंत्री की समीक्षा बैठक: जाने किन बिंदुओं पर हुई चर्चा

लखनऊ: मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने आज कोविड-19 (Covid-19) कोरोना संक्रमण से निपटने के लिए गठित टीम-11 के साथ प्रदेश की स्थिति की समीक्षा की। उन्होंने कहा कि पूल टेस्ट के माध्यम से अधिक लोगों की जांच करके कोरोना वायरस महामारी पर प्रभावी नियंत्रण किया जा सकता है। अतः पूल टेस्टिंग को बढ़ावा दिया जाए।
यही नहीं उन्होंने कहा कि कोविड अस्पतालों में अनिवार्य रूप से सिर्फ कोविड संक्रमण का ही इलाज हो। अन्य चिकित्सा गतिविधियां इन अस्पतालों में न की जाएं। अस्पतालों में मौजूद कोरोना से संबंधित तथा अन्य बायोमेडिकल वेस्ट का सुरक्षित डिस्पोजल सुनिश्चित किया जाए।

प्लाज्मा थेरेपी पर दिया ज़ोर:

मुख्यमंत्री ने कहा कोरोना (Corona) प्रभावित मरीजों के इलाज के लिए प्लाज्मा थेरेपी को बढ़ाने पर विचार करना चाहिए, क्योंकि इसके अच्छे परिणाम मिले हैं। उन्होंने कहा है कि अस्पतालों में सभी आवश्यक संसाधनों की व्यवस्था सुनिश्चित की जाए।

सख्ती से हो लॉकडाउन का पालन:

मुख्यमंत्री ने (Covid-19) कोरोना वायरस महामारी के प्रसार को रोकने के लिए लागू लॉकडाउन का अनुपालन सुनिश्चित करने के निर्देश भी दिए हैं। हॉटस्पॉट वाले क्षेत्रों में लॉकडाउन के नियमों का पालन सख्ती से करवाया जाये।

रुपे कार्ड का इस्तेमाल करे:

मुख्यमंत्री ने कहा है कि लेन-देन के लिए रुपे कार्ड तथा अन्य माध्यम को बढ़ावा दिया जाए। सभी ग्रामीण सेवाओं को मुहैया कराने के लिए ग्राहक सेवा केंद्र की तर्ज पर व्यवस्था बनाई जाए, ताकि बैंकों में भीड़ को कम किया जा सके। बैंकों में सोशल डिस्टेंसिंग सुनिश्चित की जाए।

मेडिकल टीम कि सुरक्षा पर दिया ज़ोर:

कोरोना (Corona) से जंग में मेडिकल टीम को सुरक्षित रखना अत्यंत आवश्यक है। कोविड अस्पतालों में पर्याप्त संख्या में पीपीई किट व एन 95 मास्क दिए जाएं और साफ-सफाई हेतु सैनिटाइजेशन पर विशेष बल दिया जाए। मुख्यमंत्री ने अधिकारीयों को निर्देशित करते हुए कहा है कि कोरोना के मरीजों के उपचार में जुटे सभी डाॅक्टर्स, नर्सेज, पैरामेडिकल व अन्य स्टाफ को हर हाल में इंफेक्शन से बचाया जाए।

होम डिलीवरी के कार्य को मजबूत करे:

मुख्यमंत्री ने अधिकारीयों को निर्देशित किया है कि सप्लाई चेन और होम डिलीवरी के कार्य को और अधिक मजबूती एवं निगरानी से करने के लिए, जिससे लॉकडाउन प्रभावित न हो साथ ही जनता को परेशानी का सामना न करना पड़े उन्होंने यह भी कहा कि इस काम के लिए विशेष रूप से वाॅलंटियर्स की टीम गठित की जाए।

 

यह भी पढ़ें:  http://उत्तराखंड के ग्रीन जोन में आने वाले 9 पर्वतीय जिलों को मिलेगी छूट: सुबह 7 बजे से शाम 6 बजे तक खुलेंगी दुकानें

Leave a Reply

Your email address will not be published.