अन्य प्रदेशों के भी प्रवासी और दिहाड़ी मजदूरों को भी मिलेगा राशन: योगी आदित्यनाथ

लखनऊ: यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) ने अन्य राज्यों में फंसे श्रमिकों व कामगारों की वापसी के साथ ही उन्हें राशन मुहैया कराने के लिए भी बड़ा फैसला लिया है। दरअसल, 1 मई (मजदूर दिवस) के मौके पर आज शुरू हो रहे वन नेशन, वन कार्ड (One Nation One Card) व्यवस्था के तहत अब अन्य राज्यों में फंसे उत्तर प्रदेश के लोगों को भी राशन कार्ड दिखाए बिना ही खाद्य एवं रसद मिल सकेगा। इसके लिए उन्हें अपना राशन कार्ड का नंबर देना होगा।

यूपी सहित इन राज्यों को मिलेगा योजना का लाभ:

उत्तर प्रदेश सहित 16 राज्य- आंध्र प्रदेश, गोवा, गुजरात, हरियाणा, झारखंड, केरल, कर्नाटक, मध्य प्रदेश, महाराष्ट्र, राजस्थान, तेलंगाना, त्रिपुरा, बिहार, पंजाब, हिमाचल प्रदेश तथा केंद्र शासित प्रदेश दादरा नगर हवेली के लाभार्थी आपस में राशन पोर्टबिलिटी का लाभ उठा सकेंगे। प्रवासी मज़दूरों को इस योजना का विशेष लाभ मिलेगा।
1 मई से सामान्य वितरण साइकल में गेहूं और चावल दोनों वितरित होगा। अंतयोदय कार्डधारकों, श्रमिकों/मज़दूरों हेतु वितरण निशुल्क होगा। 15 मई से प्रधानमंत्री ग़रीब कल्याण अन्न योजना के अन्तर्गत निशुल्क वितरण शुरू किया गया जाएगा। जिसमें सभी कार्ड धारकों को उनके राशन कार्ड में दर्ज सदस्यों के आधार पर प्रति व्यक्ति 5 किलो चावल नि:शुल्क दिया जाएगा।

 

यह भी पड़े: http://श्री बदरीनाथ धाम के कपाट खुलने की तैयारियां अंतिम चरण में: 15 मई को खुलेंगे कपाट

Leave a Reply

Your email address will not be published.