करवाचौथ पर Saree Lovers Stories ग्रुप में मिले साड़ी के विभिन्न रंग।

लखनऊ: जी हां सही सुना आप ने यूपी की राजधानी लखनऊ में सोशल नेटवर्किंग साइट पर एक ग्रुप चलाया जा रहा है। इस ग्रुप में देश के अलग अलग राज्यों की महिलाये जुडी है इस साड़ी ग्रुप की खास बात यह है की यहां सिर्फ प्रोफेशनल महिलाये ही नहीं बल्कि घरेलू महिलाये भी जुडी है।

Saree Lovers स्टोरिएसनाम के इस ग्रुप की एडमिन है लखनऊ में रहने वाली मेघना तिवारी जिन्होंने इस ग्रूप की शुरुआत इस साल लाक्डाउन के दौरान की। हर महीने मेघना इस साड़ी ग्रुप के लिए नयी थीम और साड़ी से जुडी वर्चुअल कांटेस्ट आयोजित करती है।  हर महीने की तरह इस बार करवाचौथ की थीम दी गयी। जिसमे इस ग्रुप की महिलाओं ने बढ़ चढ़ कर हिस्सा लिया।

इस ग्रुप की शुरुवात करने वाली मेघना ने बताया कहीं ना कहीं जब भी लोग उन्हें साड़ी पहने देखते तो अक्सर बस यही कुछ बातें होतीं जैसे “आप इस तरह की मार्केटिंग प्रोफ़ायल में हैं साड़ी सम्भालना बड़ा मुश्किल होता होगा या कुछ यूँ कहते कि मुझे भी बेहद पसंद है पर साड़ी पहन्ना झंझट है और सम्भालना उससे भी कठिन या कुछ ने कहा पसंद तो बहुत है पर साड़ी पहनने के कम ही अवसर मिल पाते हैं। मेघना बताती है की एक दिन तोह उन्हें बेहद ही चौंकाने वाली बात सुनी कि साड़ी पहनकर देहाती लुक आता है।” यह सब सुनकर उन्हें बेहद दुःख होता और ताज्जुब भी क्योंकि शादी के बारह सालों में उन्हें कभी भी ऐसा महसूस नहीं हुआ। ऑफ़िस के महत्वपूर्ण इवेंट्स और अकेज़न पे उन्होंने हमेशा साड़ी पहन्ना ही पसंद किया।

 

इन्हीं सब असमंजस्य में उन्होंने इस साड़ी लवर्ज़ ग्रूप की शुरुआत की और देखते देखते एक महीने के अंदर ही देश और विदेश की ढाई हज़ार से भी ज़्यादा भारतीय साड़ी प्रेमी महिलाएँ एक साथ एक मंच पर जुड़ गईं।

 

इस ग्रूप का मूल उद्देश्य साड़ी के प्रति महिलाओं का लगाव बनाए रखना और उन्हें इसे जीवंत रखने के लिए प्रेरित रखना है। साथ ही भारत में अलग अलग प्रदेशों में बनाई जाने वाली अनेकों हथकरघा/handloom साड़ियों की जानकारी सभी तक पहुँचना, साड़ी पहनने के अनेकों प्रकार के बारे में जानकारी मुहैया कराना और देश के अलग अलग प्रान्तों के त्योहारों के दौरान साड़ी के पारम्परिक पहनावे को एक दूसरे के साथ साझा करना है।

उन्होने बताया की भविष्य में मनोरंजन और फ़ैशन के अलावा ये कई और प्रोग्राम इसमें जोड़ेंगे जिससे उन महिलाओं का भी सहियोग कर पायें जिन्हें काम की ज़रूरत होगी।

इस ग्रुप से जुड़ने के लिए दिए गए लिंक पर क्लिक करे https://www.facebook.com/groups/188988435816705/?ref=share