कोरोना संक्रमण के चलते: पिता के अंतिम संस्कार में शामिल नहीं हो सकेंगे मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ

उत्‍तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ (Yogi Adityanath) के पिता आनंद सिंह बिष्ट (Anand Singh Bisht) ने आज दिल्‍ली के एम्‍स हॉस्पिटल में अपनी अंतिम सांस ली। वह उत्तराखंड के पौड़ी गढ़वाल जिले स्थित यमकेश्वर तहसील के पंचुर गांव के रहने वाले थे। योगी आदित्यनाथ के पिता फॉरेस्‍ट विभाग में रेंजर रहे आनंद सिंह बिष्‍ठ को आज भी उनके गांव में रेंजर साहब ही कहा जाता है। वह एक ऐसी शख्सियत थे, जो गांव के हर वाशिंदे के दिल में बसते थे।किसी का कोई भी सुख या दुख उनके बिना पूरा नहीं होता था।

वही उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शोक व्यक्त करते हुए कहा मेरे पिता जी ने मुझे हमेशा कर्तव्यों के निर्वहन के लिए प्रोत्साहित किया है उनके अंतिम दर्शन की मेरी हार्दिक इच्छा थी। लेकिन इस वैशविक महामारी के खिलाफ प्रदेश की २३ करोड़ जनता के हित को ध्यान में रख कर उनके अंतिम दर्शन में शामिल नहीं हो सकता हूँ यही नहीं मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अपनी माँ एवं पूर्वाश्रम के लोगो से लॉक डाउन का पालन करते हुए अंतिम संस्कार में काम से काम लोगो के शामिल होने की अपील भी की है।

 

प्रदेश में बढ़ रहे कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए प्रभावी कदम उठाने को ले कर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने आज भी प्रदेश के अन्य जिलों के उच्च अधिकारीयों के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग की जिसमे उन्होंने कहा।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने 10 या उससे अधिक कोरोना पाॅजिटिव केसेज वाले जनपदों में लाॅकडाउन व्यवस्था को पूरी तरह जारी रखने के अधिकारीयों को निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा कि कोविड-19 के संक्रमण को नियंत्रित करने के लिए लाॅकडाउन नियमों तथा सोशल डिस्टेंसिंग का कड़ाई से पालन करवाया जाये।

मुख्यमंत्री ने अधिकारीयों को सख्त आदेश देते हुए कहा की कोटा, राजस्थान से प्रदेश वापस लौटे सभी बच्चों को होम क्वारंटीन में रखा जाए साथ ही यह सुनिश्चित किया जाए कि इन बच्चों द्वारा ‘आरोग्य सेतु’ एप डाउनलोड करने के बाद ही उन्हें घर भेजा जाए।

उन्होंने ने यह भी कहा की पुलिस बल तथा पूरी मेडिकल टीम को हर हाल में संक्रमण से सुरक्षित रखा जाए। लॉक डाउन के बीच प्रदेश भर में खाद्य आपूर्ति को लेकर चलाई जा रही डोर स्टेप डिलीवरी में लगे लोगों की भी जांच की जाएं और यह भी सुनिश्चित किया जाए कि वह लोग मास्क आदि लगाकर सामग्री की आपूर्ति करें।

यही नहीं मुख्यमंत्री जी ने कतिपय उद्योगों को संचालित किए जाने के लिए सशर्त अनुमति दिए जाने की आज समीक्षा की है। अर्थव्यवस्था की स्थिति और बेहतर हो इसके लिए आवश्यक निर्देश दिए हैं।

पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे, बुंदेलखंड एक्सप्रेस-वे और गोरखपुर लिंक एक्सप्रेस-वे का कार्य भी आज कई स्थानों पर शुरू हो रहा है, वहां भी सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करने के निर्देश दिए गए हैं।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.